श्रीगंगानगर: कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को पिलाया जा रहा 'आयुर्वेदिक काढ़ा'

जिला प्रभारी रंजना छाबड़ा ने बताया कि यह काढ़ा कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से तैयार किया गया है.

श्रीगंगानगर: कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को पिलाया जा रहा 'आयुर्वेदिक काढ़ा'
जिला प्रभारी रंजना छाबड़ा ने बताया कि यह काढ़ा कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से तैयार किया गया है.

कुलदीप गोयल, श्रीगंगानगर: पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे के चलते चारों तरफ डर का माहौल है. ऐसे में कई सामाजिक संस्थाएं जागरूकता फैलाने के लिए आगे आई हैं. 

वहीं, श्रीगंगानगर में कोरोना वायरस के खतरे के चलते लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की कवायद की जा रही है और लोगों को आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाया जा रहा है. महिला पतंजलि कार्यालय विन्यासा योगा स्टूडियो में प्रतिदिन एक सौ से ज्यादा लोग को निशुल्क काढ़ा पिलाया जा रहा है. 

जिला प्रभारी रंजना छाबड़ा ने बताया कि यह काढ़ा कई आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से तैयार किया गया है और निशुल्क पिलाया जा रहा है. इस काढ़े से मनष्य के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होगा.

बता दें कि कोरोना वायरस के डर के बीच केंद्रीय आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन को अपनाते हुए राजधानी जयपुर में जनता के बीच काढ़ा बांटा जा रहा है. किसी भी वायरसजनित बीमारी से बचाने के लिए लोगों से अपील की जा रही है कि इस आयुर्वेद के काढ़े को पिएं. आयुष मंत्रालय का कहना है कि इस काढ़े को पीने से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी और बीमारियां उनको नहीं घेरेंगी. 

राजधानी जयपुर में भी आयुर्वेद विभाग स्थानीय जन सहयोग से लोगों के बीच पहुंचकर आयुर्वेद का रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला काढ़ा पिला रहे हैं.