close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंधविश्वास: प्रेत आत्मा से मुक्ति के लिए लोग लगा रहे हैं इस नदी में डुबकी

बता दें कि लोक देवता बाबा रामदेव का मेला चरम पर है. देश के कोने-कोने से श्रद्धालु बाबा रामदेव के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं.

अंधविश्वास: प्रेत आत्मा से मुक्ति के लिए लोग लगा रहे हैं इस नदी में डुबकी
देश के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालु इस तालाब नाड़ी में डुबकी लगाते है.

भवानी भाटी/जोधपुर: कहने और सुनने में भले ही आज के समय मे यह अजीब लगे, लेकिन इतना तो साफ है कि इक्सवीं सदी में भी लोग अंधविश्वास में पूरी तरह घिरे हुए हैं. यह मामला जुड़ा है जोधपुर के मसूरिया पहाड़ी पर स्थित बाबा रामदेव के गुरु बलिक नाथ की समाधि और बाबा रामदेव मंदिर के पास बनी परचा नाड़ी से. इस नाड़ी के बारे में  लोगों की मान्यता है कि इस नाड़ी में डुबकी लगाने से ना केवल भूत या बुरी आत्मा के साए से निजात मिलती है, बल्कि चर्म रोग सहित रोग भी दूर हो जाते हैं. ऐसे में देश के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालु इस तालाब नाड़ी में डुबकी लगाते है. साथ ही इसके पानी को बोतल में भरकर साथ भी ले जाते है. 

बता दें कि लोक देवता बाबा रामदेव का मेला चरम पर है. देश के कोने-कोने से श्रद्धालु बाबा रामदेव के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. जोधपुर के मसूरिया पहाड़ी स्थित बाबा रामदेव के गुरु बालक नाथ की समाधि और बाबा रामदेव के मंदिर के दर्शन करने पहुंच रहे हैं. इन सबके बीच बाबा रामदेव के यह श्रद्धालु यहां बनी परचा नाडी में भी डुबकी लगाते हैं. इस नाडी को लेकर मान्यता है कि इसमें डुबकी लगाने से बुरी आत्मा के साए से निजात मिल जाती है. 

खबर के मुातबिक परिवार के लोग महिला को पकड़कर यहां लेकर आते है, इसके बाद इस महिला को पकड़ कर इस नाडी में डुबकी लगा देते है. इसके कुछ ही मिनट में इस महिला को लेकर परिवार के लोग लेकर रवाना हो जाते है. यही नहीं लोगों का मानना है कि इस नाड़ी से चर्म रोग भी दूर हो जाते हैं. लोगों का कहना है कि इस नाड़ी के पानी को चरणामृत के रूप में पीने से बाबा बुरी आत्माओं के साए के साथ ही चर्म रोगों से लोगों को निजात दिलाते हैं. इसी आस्था के चलते यह श्रद्धालु इस नदी का पानी बोतल में भर कर चरणामृत के रूप में अपने साथ भी ले जाते हैं.

मंदिर ट्रस्ट के लोगो की मानें तो देशभर से प्रतिदिन हजारों की संख्या में यहां श्रद्धालु बाबा रामदेव मंदिर और रामदेव के गुरु बालक नाथ की समाधि के दर्शन के लिए आते हैं. यहां बनी परचा नाड़ी को लेकर लोगों में गहरी आस्था है. इसी आस्था के चलते यह लोग यहां इस नाड़ी में परिवार सहित डुबकी लगाकर सुख समृद्धि और स्वास्थ्य की कामना करते हैं. इसको लेकर लोगों की ऐसी मान्यता है कि इस नाड़ी में डुबकी मात्र लगाने से बुरी आत्माओं के सायों से लोगों को निजात मिलती है. 

बहरहाल, सैकड़ों सालों से चली आ रही यह आस्था या अंधविश्वास का खेल आज भी चल रहा है. लेकिन यहां आने वाले लोगों श्रदालुओ की तो इस नाड़ी के प्रति गहरी आस्था है. इसी आस्था या अंधविश्वास में ही यह लोग सैंकड़ो किलोमीटर का सफर कर यहां तक खींचे चले आते है. लोग भी इसे बाबा का चमत्कार मानकर यहां आने के बाद राहत महसूस भी करते हैं.