झुंझुनूं में राम मंदिर निर्माण को लेकर लोगों में उत्साह, स्वामी अर्जुनदास बोले..

अर्जुनदास ने बताया कि, अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनना पूरे देश में उत्साह की बात है और उत्साह भी है. यह दिन दिवाली की तरह मनाया जाएगा.

झुंझुनूं में राम मंदिर निर्माण को लेकर लोगों में उत्साह, स्वामी अर्जुनदास बोले..
अयोध्या के राम मंदिर के लिए झुंझुनूं की माटी भी ले जाई जा रही है.

संदीप केड़िया/झुंझुनूं: राजस्थान के झुंझुनूं में दादूद्वारा बगड़ के महामंडलेश्वर अर्जुनदास महाराज अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर के निमित एक रजत शीला अयोध्या ले जा रहे है. जिसकी रविवार को चूणा चौक स्थित आशीर्वाद पैलेस में समाजसेवी डॉ. डीएन तुलस्यान व अन्य शहरवासियों की मौजूदगी में पूजा अर्चना की गई.

अर्जुनदास ने बताया कि, अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनना पूरे देश में उत्साह की बात है और उत्साह भी है. यह दिन दिवाली की तरह मनाया जाएगा. वहीं, हर घर में हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करने का आह्वान किया गया है.

झुंझुनूं में भी रामभक्तों की तरफ से एक रजत शीला तैयार करवाई गई है. जिसे अयोध्या में राम मंदिर को समर्पित की जाएगी. अर्जुनदास ने बताया कि, करीब 500 सालों के बाद हजारों लोगों की आहुतियों के बाद हमें कोर्ट से राम मंदिर बनाने की इजाजत मिली है. जिसमें अब कोई किंतु परंतु नहीं है. वे झुंझुनूं के लोगों की आस्था को लेकर अयोध्या जाएंगे और वहां पर श्रीराम के दर्शन के अलावा अपने सहयोग के लिए आश्वस्त करेंगे.

उन्होंने बताया कि, पूरे देश में आह्वान किया गया है कि, इस दिन को दिवाली की तरह मनाया जाए. इसलिए सभी से वे भी निवेदन कर रहे हैं कि, पांच अगस्त का दिन दिवाली से किसी मायने में कम नहीं है. अर्जुनदास महाराज ने बताया कि, अयोध्या के राम मंदिर के लिए झुंझुनूं की माटी भी ले जाई जा रही है.

प्रमुख धार्मिक स्थल केड शक्ति, राणी सती, लोहार्गल का सूर्य मंदिर, दादूद्वारा बगड़, रूपादास की सिद्ध पीठ और चंचलनाथ टीले सहित अन्य देव और संत स्थलों से मिट्टी इकट्ठा की गई है. वो भी अयोध्या में राम जन्मभूमि को समर्पित की जाएगी.