close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर नगर निगम में हो रहे भ्रष्टाचार खिलाफ सड़कों पर उतरी जनता

अजमेर नगर निगम द्वारा विगत मार्च माह से नक्शे पास करने पर लगाई गयी अघोषित रोक और उसकी आड़ में पनप रहे भ्रष्टाचार से परेशान लोगों ने अब नगर निगम के भ्रष्टाचार के खिलाफ जांच की मांग की है. 

अजमेर नगर निगम में हो रहे भ्रष्टाचार खिलाफ सड़कों पर उतरी जनता
लोगों ने कहा कि इस मांग पर कार्यवाही नहीं की गयी तो बड़ा जनांदोलन छेड़ा जाएगा.

अजमेर: प्रदेश के अजमेर संभाग के नगर निगम के भ्रष्टाचार से त्रस्त अजमेर वासियों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है. अजमेर नगर निगम में नक्शे पास करने के नाम पर फैलाये जा रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ आज अजमेर संघर्ष समिति के बैनर तले लोगो ने संभागीय आयुक्त कार्यालय पहुंच कर ज्ञापन दिया. साथ ही नगर निगम के भ्रष्टाचार की जांच की मांग की. 

अजमेर नगर निगम द्वारा विगत मार्च माह से नक्शे पास करने पर लगाई गयी अघोषित रोक और उसकी आड़ में पनप रहे भ्रष्टाचार से परेशान लोगों ने अब नगर निगम के भ्रष्टाचार के खिलाफ जांच की मांग की है. संभागीय आयुक्त कार्यालय पहुंचे लोगों ने अतिरिक्त संभागीय आयुक्त रुद्रा रेणु को अपना ज्ञापन सौंपा. 

नगर निगम अधिकारियों की कार्यशैली से नाराज लोगों ने बताया कि नगर निगम द्वारा पहले नक्शों को पास नहीं किया जाता. यदि लोग अपने निर्माण कार्य शुरू करते है तो नगर निगम के अधिकारी निर्माण तोड़ने की धमकी दे कर अवैध वसूली करते है. इस खेल को कानूनी जामा पहनाने के लिए नोटिस का सहारा लिया जाता है. 

अपनी शिकायत लेकर संभागीय आयुक्त कार्यालय पहुंचे अजमेर वासियों ने मांग की है कि नक्शो से सम्भंधित इस मामले में नगर निगम अधिकारियों के भ्रष्टाचार का खुलासा करने के लिए सक्षम स्तर के अधिकारी से जांच करवाई जाए. यदि इस मांग पर कार्यवाही नहीं की गयी तो बड़ा जनांदोलन छेड़ा जाएगा. 

हर नागरिक का ख्वाब होता है कि वह अपना खुद का घर बनाकर शान रहें लेकिन अजमेर नगर निगम उनकी इस ख्वाहिशों पर पानी फेर देता है. नियमों से मकान बनाने के लिए शहरवासी लंबे समय तक निगम के चक्कर लगाते हैं, लेकिन नक्शे पास नहीं होने के चलते लोग गलत दिशा में काम करते हैं. जिनका खामियाजा उन्हें अवैध वसूली देकर चुकाना पड़ता है.