कोटा में तेज हुआ रानी मुखर्जी की फिल्म 'मर्दानी 2' का विरोध, हाईकोर्ट तक पहुंचा मामला

फिल्म को लेकर कोटा निवासी एक शख्स ने एडवोकेट के जरिए फिल्म के निर्माता निर्देशक को नोटिस भेजा है. साथ ही इस मामले में वह जल्द ही राजस्थान हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करेंगे. 

कोटा में तेज हुआ रानी मुखर्जी की फिल्म 'मर्दानी 2' का विरोध, हाईकोर्ट तक पहुंचा मामला
कोटा निवासी एक शख्स ने एडवोकेट के जरिए फिल्म के निर्माता निर्देशक को नोटिस भेजा है.

हिमांशू मित्तल, कोटा: फिल्म मर्दानी- 2 (Mardaani 2) के लिए कोटा (Kota) में विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है. कोटा के लोगों का कहना है कि फिल्म कोटा की पृष्ठभूमि पर तैयार की गई है और इसमें कोटा की छवि को खराब करने और शिक्षा नगरी कोटा को रेप सिटी बनाने का प्रयास किया गया है. 

इसको लेकर कोटा निवासी एक शख्स ने एडवोकेट के जरिए फिल्म के निर्माता निर्देशक को नोटिस भेजा है. साथ ही इस मामले में वह जल्द ही राजस्थान हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करेंगे. ऐसे में कोटा नगर निगम के पूर्व पार्षद और भाजपा नेता गोपालराम मंडा ने फिल्म से कोटा का नाम हटाने के लिए बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी, यशराज फिल्म के चेयरमैन आदित्य चोपड़ा, फिल्म के डायरेक्टर गोपी और यशराज फिल्म प्राइवेट लिमिटेड को नोटिस भेजा है. यह नोटिस जयपुर के अधिवक्ता अश्विनी गर्ग ने भेजा है.

petition against mardaani 2 will be filed in rajasthan highcourt in kota

इस नोटिस के बाद अधिवक्ता गर्ग जयपुर हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर करेंगे. मंडा ने कहा कि फिल्म की शूटिंग में कोटा की जनता पुलिस ओर अन्य संस्थाओं ने सहयोग किया था कि कोटा में शूटिंग हो रही है, लेकिन जिस तरह से इस फिल्म का ट्रेलर आया है, उससे कोटा की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया गया है. इससे वह और अन्य कोटा के निवासी आहत हैं. इसी को लेकर उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बदला को इस संबंध में ज्ञापन दिया था, जिसके बाद यशराज फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड ने फिल्म को सत्य घटनाओं पर आधारित बताना बंद कर दिया है लेकिन वह फिल्म से कोटा का नाम नहीं हटा रहे हैं. 

हमारी मांग है कि फिल्म से कोटा का नाम हटाया जाए, इसके लिए उन्होंने वकील के जरिए फिल्म के निर्माता निर्देशक को नोटिस भेजा है. इस मसले पर वे हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक भी लड़ाई लड़ेंगे.