Rajasthan: सदन के मुख्य द्वार पर दिखा अलग नजारा, मंत्री बोली-'तू खींच मेरी फोटो'

Rajasthan News: कांग्रेस के 3 विधायकों का यह फोटो सेशन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को विधानसभा से विदा करने के बाद हुआ. 

Rajasthan: सदन के मुख्य द्वार पर दिखा अलग नजारा, मंत्री बोली-'तू खींच मेरी फोटो'
सदन के मुख्य द्वार पर दिखा अलग नजारा.

Jaipur: हर हाथ में मोबाइल फोन आने के बाद शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो फोटो का मोह छोड़ देता है. राजस्थान के विधायक और मंत्री भी इस मोह से अछूते नहीं दिखते विधानसभा के मुख्य पोर्च में गुरुवार को सदन की कार्यवाही के दौरान विधायकों और मंत्रियों का फोटो प्रेम उस वक्त उजागर हुआ जब मुख्य पोर्च में दो मंत्री और एक विधायक फोटो खिंचवाते देखे गए.

कांग्रेस के 3 विधायकों का यह फोटो सेशन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को विधानसभा से विदा करने के बाद हुआ. दरअसल, मुख्यमंत्री गुरुवार को प्रश्नकाल में शामिल हुए तो उसके ठीक बाद उन्होंने बजट में पढ़ने से रह गए कुछ बिंदुओं को भी सदन में रखा. इसके बाद मुख्यमंत्री विधानसभा में से विदा ले रहे थे तो कुछ विधायक और सरकार के मंत्री उन्हें 'सी-ऑफ' करने विधानसभा के मुख्य पोर्च तक पहुंचे.

ये भी पढ़ें-Rajasthan Assembly में उठा Credit Cooperative Societies की ठगी का मुद्दा, CM बोले...

आमतौर पर इस पोर्च में आने की अनुमति केवल मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष को ही होती है. विधायकों का बिना कारण मुख्य पोर्च में पहुंचना संभव नहीं हो पाता. ऐसे में इस मौके का फायदा उठाते हुए विधायकों और मंत्रियों ने मुख्य पोर्च में होने का फायदा उठाया और फोटो सेशन कराया.

ममता भूपेश ने खिंचवाई सबसे ज्यादा फोटो 
दो मंत्री और एक विधायक विधानसभा में फोटो का लोभ नहीं छोड़ पाए. सबसे ज्यादा फोटो महिला और बाल विकास मंत्री ममता भूपेश में खिंचवाई. ममता भूपेश ने अपना मोबाइल मंत्री टीकाराम जूली के हाथ में थमाते हुए उनसे 'तू खींच मेरी फोटो' कहा तो विधायक सफिया जुबेर भी इस बात पर मुस्कुराती दिखी.

सबसे पहले ममता भूपेश की फोटो खींची गई. इसके बाद टीकाराम जूली ने अपने गृह जिले अलवर के रामगढ़ से आने वाली साथी विधायक सफिया जुबेर की फोटो भी खींची. दोनों महिला विधायकों की फोटो खींचने के बाद अगली बारी टीकाराम जूली की थी. ममता भूपेश ने अलग-अलग पोज देने के बाद खुद टीकाराम जूली की फोटो खींची और उन्हें फोटो के लिए खड़ा होने का तरीका भी सिखाया.

ये भी पढ़ें-Rajasthan Budget 2021: क्या Congress में 'गांधी परिवार' से बढ़कर कुछ नहीं, उठे सवाल

तकरीबन 10 मिनट चला फोटो सेशन
दो मंत्रियों और एक विधायक का यह फोटो सेशन तकरीबन 10 मिनट चला. खास बात यह रही कि इस दौरान विधानसभा की कार्यवाही में शून्यकाल चल रहा था और स्थगन प्रस्ताव के जरिए विपक्ष सरकार की जानकारी में कई ज्वलंत मुद्दे ला रहा था.  इसके थोड़ी ही देर में रामगढ़ विधायक सफिया जुबेर का भी बोलने के लिए नंबर था.

उन्होंने भी नियम-295 के तहत बोलने  का आग्रह आसन से कर रखा था, लेकिन फिर भी उनका मन फोटो में ज्यादा लगा. इस फोटो सेशन की खास बात यह रही कि मुख्य पोर्च के अलग-अलग हिस्से में फोटो खिंचवाने के बाद विधायक गोल्डन गेट के सामने फोटो खिंचवाने का लोभ नहीं छोड़ पाए.

विधानसभा के मुख्य कोच में लगा दो मंजिला पीतल का गोल्डन गेट सदन की इमारत का खास आकर्षण है. आमतौर पर यहां पर आने वाले डेलिगेशन भी इस गेट के सामने फोटो जरूर खिंचवाने की कोशिश करते हैं. पिछले दिनों दसवीं अनुसूची को लेकर हुए सम्मेलन और ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान भी प्रतिनिधियों के इस तरह के फोटो सोशल मीडिया पर देखे गए थे.