शर्मनाक: बाड़मेर में नसबंदी ऑपरेशन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल, मामला दर्ज

बाड़मेर जिले की गुडामालानी मुख्यालय पर नसबंदी का कैंप आयोजन किया जा रहा था. जिसमें डॉक्टर महिलाओं की नसबंदी कर रहे थे. 

शर्मनाक: बाड़मेर में नसबंदी ऑपरेशन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल, मामला दर्ज
पूरे मामले में जिला कलेक्टर जांच के आदेश दिए हैं.

भूपेश आचार्य/बाड़मेर: राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक बार फिर से इंसानियत को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आ गई है. जिसमें चिकित्सा विभाग की लापरवाही के चलते सोशल मीडिया पर नसबंदी ऑपरेशन से जुड़ी लाइव तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है. इतना ही नहीं, इन तस्वीरों को कई ग्रुपों में शेयर भी कर दिया गया.

खबर के मुताबिक, बाड़मेर जिले की गुडामालानी मुख्यालय पर नसबंदी का कैंप आयोजन किया जा रहा था. जिसमें डॉक्टर महिलाओं की नसबंदी कर रहे थे. इसी दौरान ऑपरेशन नसबंदी की कोई एक नहीं बल्कि पूरी पांच से ज्यादा तस्वीरें किसी ने खींच ली है और उसे सोशल मीडिया पर ग्रुप में डाल दिया. वहीं, जब यह बात उच्च अधिकारियों को पता चलती है तो अधिकारियों की भी होश उड़ गए.

अधिकारी आनन-फानन में उन तस्वीरों को हटाने के लिए तत्काल निर्देश दिए, लेकिन तब तक यह तस्वीरें वायरल हो चुकी थी. जब इस पूरे मामले में मीडिया ने जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कमलेश चौधरी से बात की तो उन्होंने माना कि यह चिकित्सा विभाग की भारी गलती है. इस पूरे मामले में जिला कलेक्टर और स्वास्थ्य विभाग ने दो अलग-अलग जांच के आदेश दिए हैं. आगे की कार्रवाई रिपोर्ट पर की जाएगी, लेकिन जिस तरीके से सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल हुई है, वह अपने आप में दुर्भाग्यपूर्ण है.

गौरतलब है कि बाड़मेर जिले में चिकित्सा विभाग की यह पहली लापरवाही नहीं है. इससे पहले भी गडरा और बालोतरा में भी पोस्टमार्टम करते हुए के वीडियो सोशल साइट पर वायरल हो चुके है. अब गुड़ामालानी में नसबंदी कैम्प में ऑपरेशन थिएटर की तस्वीरों के बारे में गुडामालानी के लोगों को पता चला तो उनके भी नींद उड़ गई. 

वहीं, इस मामले को लेकर जनता में भी खासा रोष है. लोगों का कहना है कि महिलाओं ने इतनी हिम्मत कर नसबंदी करवाई थी और ऊपर से डॉक्टरों की लापरवाही के चलते नसबंदी की लाइव तस्वीरें जिसमें महिलाओं के अर्धनग्न अवस्था के भी तस्वीरें देखने को मिल रही है. वहीं, इस तरीके से महिलाओं और पुरूषों की फोटो वायरल करने वाला दोषी बाहर घूम रहा है. 

साथ ही लोगों का कहना है कि ऐसे में जब प्रदेश की महिलाओं के पास यह खबर पहुंचेगी की इस तरीके से ऑपरेशन थिएटर में नसबंदी करवाने के फोटो खींचे जाते हैं तो उसके बाद नसबंदी रेगिस्तान के इलाकों में कौन सी महिलाएं करवाने के लिए आगे आएगी. हालांकि, इस पूरे मामले में प्रशासन जांच पर लगा है. लेकिन अब देखना ये है कि महज जांच में खानापूर्ति होती है या लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों और डॉक्टरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई होती है. यह तो जांच रिपोर्ट और आने वाले दिनों में ही पता चलेगा.