वकीलों के हमले में घायल पुलिसवालों को मिली राजस्थान की हमदर्दी, सौपेंगे 2 लाख

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट(Tis Hazari Court) में गत शनिवार को हुई हिंसक घटना में घायल हुए पुलिसकर्मियों के लिए शेखावाटी(Shekhawati) से भी मदद भेजी जाएगी.

वकीलों के हमले में घायल पुलिसवालों को मिली राजस्थान की हमदर्दी, सौपेंगे 2 लाख
पुलिसकर्मियों का 'भामाशाह' रूप भी सामने आया है. (फोटो साभार: ANI)

संदीप केडिया, झुंझुनूं: दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में गत शनिवार को हुई हिंसक घटना में घायल हुए पुलिसकर्मियों के लिए शेखावाटी से भी मदद भेजी जाएगी. जानकारी के मुताबिक झुंझुनूं के पुलिस अधिकारियों और पुलिसकर्मियों ने इसे लेकर एक मुहिम शुरू की है. जिसके बाद एक ही दिन में 2.50 लाख रुपए इकट्ठा किए गए है. यह राशि इकट्ठा कर झुंझुनूं से एक पुलिस अधिकारी के जरिए दिल्ली में घायल कांस्टेबलों को दी जाएगी. 

आज सुबह ही अचानक पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों में दिल्ली में घायल पुलिसकर्मियों की मदद के लिए एसपी गौरव यादव को ख्याल आया और बातों ही बातों में 50 हजार रुपए इकट्ठा करने का लक्ष्य दो लाख 50 हजार रुपए तक जा पहुंचा. 

एसपी गौरव यादव ने भी इसमें अपना योगदान दिया है और अन्य पुलिस अधिकारियों और कांस्टेबलों ने भी अपने सामथ्र्य अनुसार योगदान दिया है. संभवतया कल सुबह किसी आरपीएस अधिकारी को दिल्ली भेजा जाएगा. जो दिल्ली पहुंचकर सीधे घायल पुलिसकर्मियों को यह नगद मदद देंगे.

delhi police violence
कोटा में दिल्ली पुलिस के समर्थन में प्रदर्शन.

पुलिसकर्मी बनें भामाशाह, हर कोई मदद के लिए आगे आया
जानकारी के मुताबिक आज सुबह जब इस मुहिम को एसपी गौरव यादव ने शुरू किया. तब यह लक्ष्य रखा था कि कम से कम झुंझुनूं से 50 हजार रुपए की मदद भेजी जाए. लेकिन जब पुलिसकर्मियों के पास यह जानकारी पहुंची तो एक के बाद एक पुलिसकर्मी आगे और यह राशि दो लाख रुपए के करीब पहुंच गई है. माना जा रहा है कि कल यह राशि एक जगह एकत्रित कर दिल्ली के लिए भिजवाई जाएगी. इस पहल के बाद पुलिसकर्मियों का 'भामाशाह' रूप भी सामने आया है.

कोटा में घटना के विरोध में पुलिसकर्मियों का प्रदर्शन
वहीं, कोटा से मिल रही खबर के अनुसार, हाथों में न्याय मांगती तख्तियां और चेहरे में आक्रोश कोटा पुलिस में भी दिख. घटना के विरोध में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं और बच्चे पुलिस सुरक्षा की मांग को लेकर आज कोटा पुलिस लाइन से अंटाघर स्तिथ शहीद स्मारक तक जुलूस निकाला गया. जिसमें पुलिसकर्मी अपने परिजनों के साथ पुलिस लाइन इकट्ठे हुए जहां उनके हाथों में ''सेव पुलिस, ''पुलिस को न्याय कौन देगा'', इन तमाम मांगो को लेकर आज वो तमाम पुलिसकर्मी कोटा की सड़कों पर आ गए जो दिन भर आमजन की सुरक्षा में सड़कों पर तैनात रहते है.

जुलूस के बाद पुलिसकर्मियों ने शहीद स्मारक पर कैंडल जलाई और सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की साथ ही उन्होंने पुलिस की सुरक्षा के लिए भी मांग की.