Ladulal की नाम वापसी को लेकर मचा सियासी घमासान, BJP बोली- अब बैकफुट पर Congress

मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariyawas) ने जहां इस मुद्दे को लेकर जमकर भाजपा को घेरा तो वहीं अब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) भी कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए नजर आए.

Ladulal की नाम वापसी को लेकर मचा सियासी घमासान, BJP बोली- अब बैकफुट पर Congress
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया.

Jaipur: सहाड़ा (Sahara) से लादूलाल पितलिया (Ladulal Pitliya) द्वारा नाम वापस लिए जाने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. भाजपा और कांग्रेस के बीच लगातार इस मुद्दे को लेकर गर्मागरम बहस और आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है.

यह भी पढ़ें- क्या Rajasthan विधानसभा चुनाव में काम करेगा 'सहानुभूति फैक्टर', जानें किसका पलड़ा भारी

मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariyawas) ने जहां इस मुद्दे को लेकर जमकर भाजपा को घेरा तो वहीं अब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया भी कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए नजर आए.

यह भी पढ़ें- Rajasthan में महंगी बिजली और किसानों की सब्सिडी को लेकर BJP ने बोला सरकार पर हमला!

सतीश पूनिया ने लगाए ये आरोप
सहाड़ा सीट से बागी प्रत्याक्षी लादूलाल पितलिया के नाम वापसी के सवाल पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया का कहना है कि "कांग्रेस की हताशा का परिचायक बन गया है ये मुद्दा क्योंकि पितलिया के नाम वापस लेने के बाद कांग्रेस बैकफुट पर है. अब उनको हार की चिंता सताने लगी है. पितलिया को किसी ने डराया या नहीं इसकी कोई जांच नहीं हुई है. कांग्रेस बेवजह इसको मुद्दा बना रही है. पितलिया ने अपने और परिवार के हित को देखते हुए नाम वापस लिया है और अब वो पार्टी के साथ मिलकर तीनों सीटों को जिताने में पार्टी के साथ मिलकर काम करेंगे."

खान मंत्री की चिट्ठी पर भी बोला हमला
वहीं खान मंत्री को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को लिखी चिट्टी पर हमला बोलते हुए सतीश पूनिया का कहना है कि "जिस सरकार की शुरूआत ही 99 की जुगाड़ के साथ हुई. उसमें और हो क्या सकता है. कांग्रेस अपने घर के लोगों को ही संतुष्ट नहीं कर पाई है. भरत सिंह जैसे सीनियर नेता की अनदेखी की जा रही है. सरकार के मंत्री ही कई बार विधानसभा में सवाल खड़े कर चुके हैं. ऐसे में कांग्रेस के भीतर सब कुछ ठीक नहीं है ये बात सबको पता चल गई है."

साल 2023 में भाजपा प्रदेश में लौटेगी
प्रदेश में पूरे 5 साल तक सरकार के चलने के सवाल पर सतीश पूनिया का कहना है कि "साल 2023 में तो भाजपा प्रदेश में लौटेगी लेकिन कांग्रेस ने जो पिछले सवा साल में कुकर्म किया है, उसका खामियाजा कांग्रेस पंचायती राज चुनाव में भुगत चुकी है. इस समय कांग्रेस में जो अंतर्विरोध है और परिस्थितियां चली आ रही है उससे तो लगता है कि कांग्रेस खुद के बोझ तले ही दब जाएगी."