राजस्थान निकाय चुनाव 2019: यहां श्मशान में हुआ मतदान, मतदाता बोले - मिला सुकून

मतदाताओं ने कहा कि हमारे यहां पर श्मशान में पहली बार मतदान केंद्र बनाया है लेकिन बाड़मेर का सार्वजनिक श्मशान बहुत अच्छा है. यहां आकर सुकून मिलता है.

राजस्थान निकाय चुनाव 2019: यहां श्मशान में हुआ मतदान, मतदाता बोले - मिला सुकून
यहां 973 मतदाता हैं, जिसमें 509 पुरुष और 464 महिला मतदाता हैं.

भूपेश आचार्य, बाड़मेर: राजस्थान के 49 नगर निकाय में मतदान जारी है. इसमें 33 लाख 6 हजार 9 सौ 12 मतदाता अपने मतदान का प्रयोग कर रहे हैं. मतदान के लिए 3479 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इन मतदान केंद्र में से एक मतदान केंद्र है श्मशान घाट (Graveyard) का. जी हां, यहां मतदाता श्मशान में जाकर मतदान कर रहे हैं. इस श्मशान में मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और लोग बड़े ही उत्साह से मतदाता मतदान कर रहे हैं.

सुनकर थोड़ा अजीब लगेगा लेकिन यह बिल्कुल अलग है कि बाड़मेर नगर परिषद के वार्ड नंबर 17 के मतदाताओं ने जब पूछा कि वोट डालने कहां जाएं तो जवाब मिला श्मशान घाट (Graveyard). बाड़मेर में नगर निकाय चुनाव में मतदान बूथ श्मशान घाट (Graveyard) में बनाया गया है. पहली बार बने इस बूथ को लेकर वार्ड सहित बाड़मेर जिले भर में चर्चा का विषय है. 

शहर में सार्वजनिक श्मशान में सभा भवन बना हुआ है. यहां पर ही वार्ड 17 के मतदाताओं के लिए बूथ स्थापित किया है. मतदान के लिए शुक्रवार को यहां पर पोलिंग टीम भी पहुंच गई थी. साथ ही ईवीएम के लिए सुरक्षा गार्ड लगाए गए हैं. यहां 973 मतदाता हैं, जिसमें 509 पुरुष 464 महिला मतदाता हैं.

मतदाताओं बोले - मिल रहा यहां सुकून
मतदान देने आए मतदाताओं ने कहा कि सुनने में जरूर अजीब लग रहा है लेकिन जिंदगी के अंतिम पड़ाव में भी आना तो यही है. मतदाताओं ने कहा कि हमारे यहां पर श्मशान में पहली बार मतदान केंद्र बनाया है लेकिन बाड़मेर का सार्वजनिक श्मशान बहुत अच्छा है. यहां आकर सुकून मिलता है.

काफी सुंदर है बाड़मेर का सार्वजनिक श्मशान घाट 
बाड़मेर शहर का सार्वजनिक श्मशान घाट (Graveyard) सुंदर निर्माण किया हुआ है. यहां चारों तरफ हरियाली और बड़ा उद्यान भी हैं. इसमें लोग सुबह-शाम घूमने भी जाते हैं. श्मशान घाट (Graveyard) के अंदर से सड़कें भी गुजरती हैं, जहां दिनभर आसपास के लोगों का आना-जाना लगा रहता है. यहां पर फव्वारे लाइटिंग और अन्य सुविधाएं हैं. यहां बने एक साथ ही श्मशान घाट (Graveyard) में पोलिंग के लिए सुविधा और कतार के लिए पूरी जगह होने से इसका चुनाव किया गया है.