close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दौसा: बिजली कटौती के कारण स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती मरीज परेशान, नहीं हो रही सुनवाई

इस दौरान अस्पताल में भर्ती प्रसूताएं, मरीज व नवजात शिशुओं की पंखी व गत्तों के द्वारा परिजन हवा करके तेज उमस व गर्मी से राहत पहुंचाते दिखते हैं.

दौसा: बिजली कटौती के कारण स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती मरीज परेशान, नहीं हो रही सुनवाई
यहां बिजली की सप्लाई काफी बदतर स्थिति में है. (प्रतीकात्मक फोटो)

दौसा(बांदीकुई): अघोषित बिजली कटौती के कारण कुंडल राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज कराने वाले मरीज काफी परेशान हैं. बिजली विभाग बिना पूर्व सूचना के प्रतिदिन अघोषित बिजली कटौती कर रहा है. जिस कारण मरीजों के साथ उनके परिजनों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

इस दौरान अस्पताल में भर्ती प्रसूताएं, मरीज व नवजात शिशुओं की पंखी व गत्तों के द्वारा परिजन हवा करके तेज उमस व गर्मी से राहत पहुंचाते दिखते हैं. 

सिटी फीडर से जोड़ने के बावजूद है समस्या
बताया जा रहा है कि कुंडल कस्बे को सिटी फीडर से जोड़ा जा चुका है. इसके बावजूद ग्रामीण फीडर से प्रतिदिन कटौती हो रही है. बिजली गुल होने के कारण मरीजों, उनके परिजनों और नर्सिगकर्मियों का वार्ड में तेज उमस और गर्मी के कारण रूकना काफी मुश्किल है. वहीं, डिलेवरी वाली महिलाओं और नवजात शिशु का गर्मी से खासी परेशानी होती हैं. 

लाइव टीवी देखें:

विभाग खर्च कर चुका है 1 करोड़
सरकार और विभाग की ओर ने कस्बे को बेहतर बिजली सप्लाई व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए सिटी सप्लाई (24 घण्टे थ्री फेज लाईन डालकर कुण्डल सिटी फीडर के नाम से नया फीडर बनाया गया था. जिसके लिए करीब एक करोड़ रूपये खर्च रूपए खर्च किए गए थे.

फाल्ट आने के कारण होती है परेशानी
विभागीय सूत्रों के अनुसार, कुंडल ग्रामीण फीडर की सप्लाई लाईन में फाल्ट आने या अन्य कार्य करने के कारण दोनों लाईन क्रॉसिंग पर होने से दिन में कई बार तो घंटों तक सप्लाई बंद रखी जाती है. जिस कारण सिटी सप्लाई लाईन बेहतर होने की बजाय ग्रामीण फीडरों से बदतर हो गई है.