सभापति ने ली ऐसी शपथ, कर्मचारी दौड़-दौड़ कर पकड़ने लगे शहर भर के 'सूअर'

प्रतापगढ़ शहर में पिछले कई सालों से सूअरों (Pigs) का आतंक देखने को मिल रहा है. इन सूअरों के हमले से कई लोगों को घायल होना पड़ गया है.

सभापति ने ली ऐसी शपथ, कर्मचारी दौड़-दौड़ कर पकड़ने लगे शहर भर के 'सूअर'
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Pratapgarh: प्रतापगढ़ नगर परिषद (Pratapgarh Municipal Council) की नई सभापति रामकन्या प्रहलाद गुर्जर (Ramkanya Prahlad Gurjar) ने सभापति बनती ही एक अनूठी शपथ ली है, जिसे सुनकर नगर परिषद के कर्मचारियों से लेकर शहर की जनता भी आश्चर्यचकित हो गई. 

यह भी पढ़ें- घर से बकरियां चलाने निकली थी युवती, कुएं में इस हालत में मिला शव

 

जी हां, प्रतापगढ़ शहर में पिछले कई सालों से सूअरों (Pigs) का आतंक देखने को मिल रहा है. इन सूअरों के हमले से कई लोगों को घायल होना पड़ गया है और कई बार यहां पर हादसे हो चुके हैं. इस प्रमुख समस्या को दूर करने के लिए सभापति ने चुनाव के दौरान जनता से वादा किया था और उसे निभाने के लिए सभापति ने एक वचन लिया. उन्होंने कहा कि जब तक प्रतापगढ़ शहर सूअर मुक्त नहीं होगा, तबतक मैं सभापति का पदभार ग्रहण नहीं करूंगी. 

यह भी पढ़ें- Banswara Samachar: 15 जगहों पर छापेमार कार्रवाई, हजारों लीटर महुआ वाश को किया नष्ट

 

सभापति की इस शपथ के बाद नगर परिषद के कर्मचारी सूअर पकडने लग गए पर नगर परिषद के अधिकारी इस अभियान में साथ नहीं दे रहे हैं. सभापति की इस शपथ का शहर की जनता ने खूब स्वागत किया और कहा कि पहली बार किसी ने इस गंभीर विषय पर बात की और इसको दूर करने का प्रयास किया है. 

क्या कहना है सभापति रामकन्या प्रहलाद गुर्जर का
सभापति रामकन्या प्रहलाद गुर्जर ने बताया कि चुनाव के दौरान हम 40 वार्ड में हम प्रचार करने गए थे तभी से सभी वार्ड में सूअर की सबसे बड़ी समस्या बनी हुई है. इस कारण ने मैंने यह निर्णय लिया और शहर को सूअर मुक्त करने के बाद ही पदभार ग्रहण करूंगी, चाहे मुझे पांच साल भी हो जाएं.  

साइन करने से अधिकारियों ने किया मना
सूअर पकडने के लिए नगर परिषद में जो फाइल चलाई गई, उस पर अधिकारियों ने साइन करने से मना कर दिया है. अब देखने वाली बात यह है कि शहर कब तक सूअर मुक्त होगा और कब सभापति अपना पदभार ग्रहण करेंगी?

Reporter: Ajay Ojha