close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बांसवाडा: जिले के इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने निजी हॉस्पिटल भी फेल, जानिए कैसे

जिले के घाटोल उपखडा क्षेत्र के का यह आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र साफ सफाई ओर व्यवस्थाओं के लिए एक मिसाल है.

बांसवाडा: जिले के इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने निजी हॉस्पिटल भी फेल, जानिए कैसे
यहां दिव्यांगों मरीजों के लिए रैंप भी बनाया गया है.

बांसवाडा/अजय ओझा: जब भी आप सरकारी हॉस्पिटल की बात सुनते होंगे तो आपको गंदगी, अवयवस्था जैसी बातों की याद आती होगी. लेकिन राजस्थान के बांसवाड़ा जिले का एक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ऐसा है. जिसके सामने निजी हॉस्पिटल भी फेल होते दिख जाएंगे.

जी हां हम बात कर रहे है जिले के घाटोल उपखडा क्षेत्र के बस्सी आडा गांव के आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की. यह स्वास्थ्य केंद्र साफ सफाई ओर व्यवस्थाओं मे एक मिसाल बना है.

टीम वर्क की है देन
इस स्वास्थ्य केंद्र को खूबसूरत और बेहतर बनाने के लिए चिकित्सक से लेकर नर्सिंग स्टाफ व ग्रामीणों ने भी सहयोग किया है. इसके बाहर एक सुंदर गार्डन भी है. इसके अलावा इसको बेहतर बनाने के लिए हर किसी ने अपना सहयोग दिया है. पदस्थापित कर्मचारी इसके पीछे टीम वर्क की मेहनत का नतीजा बताते हैं.

लाइव टीवी देखें-:

लगे हैं चेतावनी बोर्ड
चिकित्सालय के अंदर की साफ-सफाई किसी आलीशान निजी चिकित्सालय से भी बेहतर दिखाई दे रही है. चिकित्सालय के अंदर जगह-जगह चेतावनी बोर्ड लगा रखे है. जिसमें यहां आने वाले लोगों को साफ सफाई के लिए निर्देश दिए गए हैं.

मरीजों के लिए हर सुविधा उपलब्ध
इस चिकित्सालय में हर तरह की जरुरी नियमों का पालन किया गया है. जिससे मरीजों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं हो.  यहां दिव्यांगों मरीजों के लिए रैंप भी बनाया गया है. ताकि उन्हें स्वास्थ्य केंद्र में आने जाने में असुविधा नहीं हो. इस प्राथमिक स्वास्थ केंद्र में हर दिन आसपास के गांवों के 100 से अधिक मरीज अपना इलाज करवाने आते हैं.