जयपुर: प्रवासी मजदूर से जमकर वसूली कर रहे दलाल, भूल गए इंसानियत का धर्म

दलालों के जरिए ट्रक वाले मजदूरों को उनके राज्य पहुंचाने के नाम पर लूट रहे हैं. 

जयपुर: प्रवासी मजदूर से जमकर वसूली कर रहे दलाल, भूल गए इंसानियत का धर्म
ट्रक वाले मजदूरों को उनके राज्य पहुंचाने के नाम पर लूट रहे हैं.

विष्णु शर्मा, जयपुर: सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद प्रवासी मजदूर बसों और ट्रेनों के बजाय ट्रकों से जा रहे हैं. दलालों के जरिए ट्रक वाले मजदूरों को उनके राज्य पहुंचाने के नाम पर लूट रहे हैं. 

ऐसा ही नजारा जयपुर में घाट की गुनी के पास दिखाई मिला, जहां आधी रात बाद बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर बैठे हुए थे. इनमें ज्यादातर उत्तरप्रदेश और बिहार जाने वाले थे. इन मजदूरों के साथ छोटे-छोटे बच्चे महिलाएं और बुजुर्ग भी थे. 

खास बात यह थी कि इन लोगों को ट्रक वाले सौदा करके ले जा रहे थे. लॉकडाउन में आवाजाही की छूट मिलने के बाद कुछ दलाल सक्रिय हो गए हैं. यह दलाल पहले जाकर सवारियों से बात करते हैं और जैसे ही मज़दूरों के साथ सौदा हो जाता है, ट्रक वाले को फ़ोन कर देते हैं. इसके बाद सड़क पर ट्रक आ जाता है. कुछ ट्रक आजकल इसी काम में लगे हुए हैं.

यह ट्रक वाले मजबूर मजदूरों से मोटी कमाई कर रहे हैं. यह इंसानियत का धर्म भूल कर अपना घर भरने में लगे हुए हैं. इधर मजदूरों को भय है कि सरकार के बस या ट्रेन में उनका नंबर नहीं आएगा. ऐसे में वह मजबूरी में ट्रक में सवार होकर रवाना हो रहे हैं.