जयपुर: कार्यकर्ताओं के अभाव में कांग्रेस कार्यालय में ही शुरू हुई जनसुनवाई, मंत्री जी बोले...

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में जनता की शिकायतों, समस्याओं और मांगों पर प्रभावी सुनवाई के लिए मंत्री दरबार लगा. उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने आम जनता की शिकायतों के प्रभावी निदान की बात कही.

जयपुर: कार्यकर्ताओं के अभाव में कांग्रेस कार्यालय में ही शुरू हुई जनसुनवाई, मंत्री जी बोले...
भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र से भी कुछ उद्यमी अपनी समस्याओं के निपटारे के लिए मंत्री सुनवाई में पहुंचे.

जयपुर: प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आम जनता और कार्यकर्ताओं के अभाव अभियोग सुनने का सिलसिला जारी है. आज उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने जनसुनवाई की. सुनवाई के दौरान सामने आई कई समस्याओं का संबंधित अधिकारियों को मौके से फोन कर निपटारा करवाया. जनसुनवाई में कई कार्यकर्ता अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं को लेकर भी पहुंचे. विभिन्न आयोगों के खाली पदों पर नियुक्ति की मांग के आवेदन भी बड़ी संख्या में आए. 

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय  में जनता की शिकायतों, समस्याओं और मांगों पर प्रभावी सुनवाई के लिए मंत्री दरबार लगा. उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने आम जनता की शिकायतों के प्रभावी निदान की बात कही. वहीं, कांग्रेस कार्यालय में उद्योग मंत्री के सामने कई निवेशक रीको से जुड़ी समस्याओं और नियमों में उलझा कर परेशान करने के आरोप लगाए. मालवीय औद्योगिक क्षेत्र से आए उद्यमियों के दल ने भूखंड आवंटन रद्द करने की शिकायत की. अपरेल पॉर्क से जुड़ी समस्याओं के निपटारे के लिए भी औद्योगिक संघों के प्रतिनिधि पहुंचे.

बिजली पानी की भी मांग
साथ ही, भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र से भी कुछ उद्यमी अपनी समस्याओं के निपटारे के लिए मंत्री सुनवाई में पहुंचे. आयोगों में नियुक्तियों के आशार्थी भी अपने आवेदन लेकर आए, सरकारी कार्मिकों के ट्रांसफर अर्जियां भी जनसुनवाई में शामिल हैं. वहीं पानी और बिजली कनेक्शन की मांगों पर भी आवेदन आए हैं.

राजनीति भी चमकाने की जुगत
वहीं, उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि सुनवाई कार्यक्रम में आम लोगों और कार्यकर्ताओं की समस्याओं का प्रभावी निदान हो रहा हैं. यह सीएम अशोक गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की बेहतर सोच का नतीजा है. लोगों की समस्याओं को मंत्रीपरिषद सदस्य हल करने के लिए तत्पर हैं, यही वजह है कि निकाय चुनावों में सीधा लाभ मिला. पंचायत चुनावों में भी सुशासन और जनहित के मुद्दे पर कांग्रेस बढ़त बनाएगी. 

साथ ही, कांग्रेस कार्यालय  में आयोजित जनसुनवाई छोटे स्तर के नेताओं को अपनी नेतागिरी चमकाने का भी अवसर दे रही है. ब्लॉक स्तर के नेता स्थानीय लोगों की समस्याओं को लेकर कांग्रेस दफ्तर पहुंचने लगे हैं. मंत्रियों की मौजूदगी का लाभ जहां आम जनता को राहत दे रहा है, वहीं राजनीति में बड़ी छलांग लगाने का सपना देख रहे कार्यकताओं की हिम्मत भी बढ़ा रहा है.