close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: RAF और पुलिस ने किया फ्लैग मार्च, आपात स्थिति पर काबू करने का अभ्यास

लालवास गांव में वर्दी में मौजूद बंदूकधारियों के मार्च को देखकर सभी भौंचक्का हो गए. दरअसल, ये मार्च आपात स्थितियों में हालातों को काबू करने के अभ्यास के तौर पर रखा गया था.

जयपुर: RAF और पुलिस ने किया फ्लैग मार्च, आपात स्थिति पर काबू करने का अभ्यास
(प्रतीकात्मक फाइल फोटो साभार: ANI)

दामोदर प्रसाद, जयपुर: जिले के आमेर स्थित लालवास गांव में रैपिड एक्शन फोर्स(Rapid Action Force) और आमेर थाना पुलिस की मौजूदगी से हर कोई चौंक गया. मामला था संयुक्त अभ्यास का. संयुक्त रूप से आमेर इलाके में दोनों बलों ने फ्लैग मार्च किया. आमेर थाने से मार्च की शुरुआत हुई और तमाम इलाको से होकर ये मार्च गुजरा. जिसके जरिए आपातकालीन हालातों में कैसे निपटा जाए, इसकी तैयारी की गई. फोर्स की तरफ से संवेदनशील इलाकों की सूची भी तैयार की गई है. जिसका मकसद किसी अप्रिय घटना के वक्त निपटने और शांति व्यवस्था कायम बनाए रखना है.

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश अनुसार रैपिड एक्शन फोर्स की 83 बटालियन बी कंपनी की ओर से इस फ्लैग मार्च को किया गया. रैपिड एक्शन फोर्स का ये फ्लैग मार्च सहायक कमांडेंट मनोज गुप्ता की निगरानी और नेतृत्व में किया गया. फ्लैग मार्च के दौरान आमेर थाना अधिकारी राजेंद्र सिंह के अलावा तमाम पुलिसकर्मी मौजूद रहे.

आपको बता दें कि त्योहारी सीजन को देखते हुए जहां सुरक्षाबल पूरी तरह से मुस्तैदी बरत रहे हैं. तो वहीं रैपिड एक्शन फोर्स के अभ्यास के दौरान संवेदनशील इलाकों की जो सूची तैयार की गई है. उसे जनसंख्या, साक्षरता और सामुदायिक दृष्टि से तैयार किया गया है. ताकि तनाव, दंगा या किसी भी घटना में तुरंत कार्रवाई की जा सके. इसके साथ ही संवेदनशील हालातों में स्थिति पर कंट्रोल के लिए भी इस सूची का अध्यन किया जा रहा है. वहीं एक इलाके का मैप भी तैयार किया गया है.