राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा कोविड संक्रमित, CM गहलोत ने फोनकर जाना हालचाल

अजमेर से रघु शर्मा जयपुर के लिए रवाना हुए हैं. रघु शर्मा को अब आरयूएचएस (RUHS) हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा कोविड संक्रमित, CM गहलोत ने फोनकर जाना हालचाल
राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा कोविड संक्रमित. (फाइल फोटो)

जयपुर: राजस्थान के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. जानकारी के मुताबिक, डॉ. रघु शर्मा कोरोना संक्रमित मिले हैं. 8 महीने कोरोना की चुनौती से लड़ते-लड़ते आखिरकार रघु शर्मा भी वायरस की चपेट में आ गए हैं.

वहीं, अजमेर से रघु शर्मा जयपुर के लिए रवाना हुए हैं. रघु शर्मा को अब आरयूएचएस (RUHS) हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. इधर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी रघु शर्मा से फोन पर बात कर स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली है. जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा अब अजमेर से सीधे डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल RUHS पहुंचे हैं . साथ में मौजूद अन्य स्टाफ की भी अब होगी RUHS में कोविड जांच होगी. 

बता दें कि कोरोना संक्रमण की चपेट में पूर्व और मौजूदा चिकित्सा मंत्री दोनों आ गए हैं. पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ और मौजूदा चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा दोनों आरयूएचएस में भर्ती हैं और संयोग से दोनों के रूम भी आमने-सामने हैं. जानकारी के अनुसार, आरयूएचएस की दसवीं मंजिल पर 1012 रूम नंबर में पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ भर्ती हैं. वहीं, 1017 रूम नंबर में मौजूदा चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा भर्ती हैं.

गौरतलब कि राजस्थान में कोरोना वायरस के मामले में लगातार बढ़ रहे हैं. वहीं, राजस्थान सरकार ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर अंकुश लगाने के लिए आठ जिलों में रात का कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है. इन आठ जिलों में जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, कोटा, उदयपुर, अलवर, अजमेर और भीलवाड़ा शामिल हैं. बाजार, रेस्तरां, दुकानें आदि 7 बजे शाम तक बंद हो जाएंगे और इन शहरों में रात 8 बजे से कर्फ्यू लगा दिया जाएगा. कर्फ्यू सुबह 6 बजे तक लगा रहेगा.

हालांकि, आपातकालीन सेवाओं जैसे कि मेडिकल शॉप, रेलवे और हवाई यात्रियों को छूट दी जाएगी. राज्य में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की समीक्षा के लिए शनिवार को एक कैबिनेट बैठक बुलाई गई थी जिसमें ये फैसला लिया गया. बैठक में यह निर्णय लिया गया कि मास्क नहीं पहनने वालों पर अब 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा जो पहले 200 रुपये था. इसके अलावा, विवाह समारोहों में 100 लोगों की संख्या सीमित होनी चाहिए.

(इनपुट-सुशांत पारिक/आशुतोष शर्मा)