लॉकडाउन 4 लागू होने से पहले चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने दिया बड़ा बयान....

रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या बढ़ने के पीछे बड़ी वजह जांच का दायरा बढ़ना है.

लॉकडाउन 4 लागू होने से पहले चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने दिया बड़ा बयान....
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Raghu sharma) ने लॉकडाउन के चौथे चरण के लागू होने से पहले बड़ा बयान दिया है. चिकित्सा मंत्री ने कहा है कि अब केंद्र को राज्यों को लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने और उनका जोन निर्धारण करने के अधिकार देने चाहिए.

दिल्ली में बैठकर राज्यों की स्थिति का अंदाजा लगाना संभव नहीं है. चिकित्सा मंत्री ने केंद्र के राहत पैकेज पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि राजनीति करने के लिए नहीं बल्कि देश की जनता को उनके अधिकार दिलाने की बात है. केंद्र ने जो पैकेज जारी किया है, उससे देश के श्रमिकों मजदूरों को कोई लाभ नहीं हो रहा. 

रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या बढ़ने के पीछे बड़ी वजह जांच का दायरा बढ़ना है लेकिन सबसे सुखद बात यह है कि प्रदेश में कोरोना के मरीजों का रिकवरी रेट राजस्थान में 60% है, जो देश में सबसे ज्यादा है. 

करवाया जा रहा कोरोना से हुई मौतों का डेट ऑडिट 
रघु शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों पर प्रदेश में कोरोना से हुई मौतों का डेट ऑडिट करवाया जा रहा है ताकि इससे अन्य मरीजों के उपचार में मदद मिल सके. जयपुर जिला जेल में कोरोना विस्फोट के सवाल पर रघु शर्मा ने कहा इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाई जा रही है. प्रदेश में अन्य जेलों में भी कैदियों के सैंपलिंग के निर्देश दिए हैं. 

साथ ही बता दें कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने की राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से फोन पर बातचीत की है. प्रदेश में सरकार के इंतजामों के बारे में सीएम गहलोत ने उन्हें फीडबैक दिया. प्रवासी श्रमिक और क्वॉरेंटाइन सिस्टम के बारे में भी जानकारी दी. साथ ही श्रमिकों के सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए प्रियंका गांधी ने कई जरूरी दिशा-निर्देश दिए.