Yuva Akrosh Rally - 1 करोड़ युवाओं ने खोया रोजगार, अर्थव्यवस्था बर्बाद : राहुल गांधी

जयपुर में मंगलवार को राहुल गांधी ने रामनिवास बाग में युवा आक्रोश रैली को संबोधित किया. 

Yuva Akrosh Rally - 1 करोड़ युवाओं ने खोया रोजगार, अर्थव्यवस्था बर्बाद : राहुल गांधी
युवा आक्रोश रैली में राहुल गांधी
Play

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार को राहुल गांधी ने रामनिवास बाग में युवा आक्रोश रैली को संबोधित किया. राहुल गांधी के साथ राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट, खेल मंत्री अशोक चांदना, परिवहन मंत्री अशोक खाचरियावास समेत कांग्रेस के दिग्गज नेता भी मौजूद रहे.

युवा आक्रोश रैली में राहुल गांधी ने कहा पिछले साल देश के एक करोड़ युवाओं का रोजगार छिन गया, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी इस पर मौन हैं. सीएए, एनआरसी और एनपीआर पर लंबे भाषण देने वाले मोदी इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोलते. 

राहुल गांधी ने कहा कि, 'देश की हालात देश का युवा जानता और पहचानता है. हर देश के पास कोई न कोई पूंजी होती है. हिन्दुस्तान के पास करोड़ो युवा हैं. अमेरिका का मुकाबला नहीं कर सकते, तेल नहीं है हमारे पास, लेकिन आप सबका मुकाबला कर सकते हैं. मैं आपकी बात नहीं कर रहा है, मैं आपके सपने की बात कर रह हूं. हिन्दुस्तान का युवा देश को नहीं, दुनिया को बदल सकता है. अलग-अलग देशों से लोग हिन्दुस्तान के युवा में INVEST करने आया करते थे.' 

राहुल गांधी ने कहा कि, 'आज दुख से कहता हूं कि 21वीं सदी का हिन्दुस्तान अपनी पूंजी को जाया कर रहा है. जो आप कर सकते हो. वो हमारे पीएम नहीं होने दे रहे हैं. आपको इस हिन्दुस्तान में रोजगार नहीं मिल सकता है. पिछले साल में 1 करोड़ युवाओं ने रोजगार खोया है, जहां भी पीएम जाते हैं लंबे-लंबे भाषण देते हैं, लेकिन देश के समस्या हैं, युवाओं को चुभती है, हमारे पीएम एक शब्द नहीं बोलते हैं.'

जयपुर के अल्बर्ट हॉल में आयोजित सभा में राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार के समय देश की ग्रोथ रेट 9% थी, जो अब घटकर 5% रह गई. उन्होंने कहा कि हम गरीबों को पैसा देते थे, जिससे बाजार की खपत बढ़ती थी और ग्रोथ होती थी, लेकिन मोदी ने इकोनॉमिक्स नहीं पढ़ा, इसलिए उन्हें यह बात समझ नहीं आती.

सीएम गहलोत ने आक्रोश रैली को सम्बन्धित करते हुए कहा कि हमारे-आपके सामने बड़ी चुनौती है, लेकिन डरने की जरूरत नहीं है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि मेड इन चाइना को मेड इन इंडिया पीछे धकेल सकता है. इसके लिए चाइना से प्यार से मुकाबला किया जा सकता है. महात्मा गांधी की विचारधारा हमारी पहचान होनी चाहिए, तब दुनिया कहेगी कि ये देश दुनिया को रास्ता दिखा सकता है.