पढ़कर ये खबर, दूध, पनीर और मावा खाना छोड़ देंगे राजस्थान के लोग

इस कार्रवाई के दौरान तकरीबन डेढ़ क्विंटल मिलावटी मावा और करीब 5 क्विंटल मिलावटी दूध पकड़ा है. 

पढ़कर ये खबर, दूध, पनीर और मावा खाना छोड़ देंगे राजस्थान के लोग
कार्रवाई के दौरान तकरीबन डेढ़ क्विंटल मिलावटी मावा और करीब 5 क्विंटल मिलावटी दूध पकड़ा है.

प्रदीप सोनी, चौमूं: राजधानी जयपुर (Jaipur) के सामोद इलाके में चल रहे सफेद मावा के काले व्यापार को लेकर जहां चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग (Medical Health Department) की टीम को कार्रवाई करनी चाहिए थी, वहां टीम की कार्रवाई के बजाय जयपुर ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा की स्पेशल टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया है. 

एसपी की स्पेशल टीम ने मोरिजा गांव में नकली मावा और दूध बनाने के कारखाने पर छापा मार कार्रवाई की है. इस कार्रवाई के दौरान तकरीबन डेढ़ क्विंटल मिलावटी मावा और करीब 5 क्विंटल मिलावटी दूध पकड़ा है. इस कार्रवाई के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया तो वहीं मावा व्यवसायी कारखाना बंद कर मौके से फरार हो गए. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए नकली मावा बनाने वाले कारखाने के मालिक और तीन-चार अन्य मजदूरों को दबोच लिया है, जिनसे पुलिस पूछताछ करने में जुटी है. 

स्वास्थ्य विभाग की टीम को नहीं थी भनक
कार्रवाई की भनक स्थानीय सामोद थाना पुलिस और चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग की टीम को भी नहीं थी. एसपी की स्पेशल टीम ने पहले इस पूरे इलाके में और नकली दूध बनाने वाले लोगों का को चिन्हित किया और फिर कार्रवाई को अंजाम दिया. फिलहाल स्वास्थ्य विभाग की टीम को मौके पर बुलाया गया. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दूध के सैंपल लिए. 

बता दें कि मोरिजा इलाके में बड़े स्तर पर नकली दूध और मावे का काला कारोबार होता है. त्योहारों की सीजन में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम छोटी-मोटी कार्रवाई कर इतिश्री कर लेती है हालांकि जानकारों की मानें तो पूरे प्रदेश में नकली दूध घी और मावे की सप्लाई इसी इलाके से की जाती है लेकिन अब मिलावट को लेकर SP शंकर दत्त शर्मा गंभीर नजर आ रहे हैं. पहले डीजल और दूध चोरी करने वालों पर शिकंजा कसा और अब मिलावट करने वालों पर कड़ी नजर है. इसके लिए SP ने टीम का गठन किया है, जो जिले में ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है.