राजस्थान: बूंदी बस हादसे में एक ही परिवार के 15 लोगों बने काल का ग्रास

सूचना मिलने के बाद कोटा में मुरली के मौहल्ले में हड़कम्प मच गया. देखते ही देखते मुहल्ले में लोगों की भीड़ जमा हो गयी. वहीं, दादाबाड़ी थानाधिकारी ताराचंद भी मौके पर पहुंचे और भीड़ को नियंत्रित किया.

राजस्थान: बूंदी बस हादसे में एक ही परिवार के 15 लोगों बने काल का ग्रास
बस हादसे में एक ही परिवार के 15 लोगों बने काल का ग्रास.

राजस्थान: कोटा के एक परिवार में शादी की खुशियां एक पल में उस समय काफूर हो गयी जब अपनी भानजी की शादी का मायरा लेकर जा रही बस बूंदी के लाखेरी इलाके में असंतुलित होकर नदी में गिर गयी. जिसमें डूबने से बस सवार 24 लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी. शादी की खुशियों में डूबे परिवार के बीच मातम और चीख पुकार मच गया.

कोटा के गणेशतालब इलाके निवासी मुरली धोबी की सवाईमाधोपुर निवसी बहन श्रीमती बादाम बाई की बेटी की शादी होने वाली थी. जिसका मायरा लेकर मुरली अपने परिवार और रिश्तेदारों को निजी बस से लेकर सुबह 7 बजे कोटा के जवाहर नगर इलाके से रवाना हुआ था. तभी, लाखेरी के पास बस का टायर फट गया. जिससे बस असंतुलित होकर सीधे 50 फ़ीट नीचे मेज नदी में गिर गयी. जिस समय बस नदी में गिरी नदी में काफी पानी था, जिससे पूरी बस पलक झपकते ही नदी में डूब गई. जिसमें मुरली के परिवार के 24 लोगों की दर्दनाक मौत हो गयी.

सूचना मिलने के बाद कोटा में मुरली के मौहल्ले में हड़कम्प मच गया. देखते ही देखते मुहल्ले में लोगों की भीड़ जमा हो गयी. वहीं, दादाबाड़ी थानाधिकारी ताराचंद भी मौके पर पहुंचे और भीड़ को नियंत्रित किया. वहीं, घटना को लेकर पूरा मौहल्ला सन्न रह गया. लोगों का कहना था कि मुरली के परिवार में शादी की तैयारियों को लेकर काफी दिन से तैयारियां चल रही थी. लेकिन इस हादसे ने मुरली के पूरे परिवार को ही तबाह कर दिया और सारी खुशियां काफूर हो गयी.

फिलहाल मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम बूंदी में करवाया जा रहा है. जिसके बाद शवों को कोटा उनके घरों के लिए रवाना किया जाएगा. वहीं, हादसे के बाद कोटा प्रशासन ने भी अस्पतालों और पुलिस में अलर्ट जारी कर दिया. कुछ घायलों को कोटा एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया जा रहा है.