राजस्थान: फरार चल रहे टॉप 25 अपराधियों में से 9 गिरफ्तार

अभियान के तहत प्रदेश स्तर पर टॉप 25 वांछित अपराधियों को पुलिस की ओर से चिन्हित किया गया था. जिसमे से 9 अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता हाथ लगी है.

राजस्थान: फरार चल रहे टॉप 25 अपराधियों में से 9 गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान में वांछित अपराधियों की धरपकड़ के लिए शुरू किया गया विशेष अभियान रंग लाने लगा है. राजस्थान पुलिस को प्रदेश स्तर पर चिन्हित 25 वांछित अपराधियों में से 9 अपराधियों को पकड़ने में सफलता मिली है. प्रदेश के डीजीपी कपिल गर्ग विशेष रुप से इस अभियान की मोनिटरिंग कर रहे हैं.

प्रदेश में अपराध बढ़ना पुलिस के लिए एक चुनौती बन गया. पुलिस ने प्रदेश में अपराध को रोकने के लिए कई तरह के प्रयास किये लेकिन खास सफलताएं हाथ नही लग पाई. उसके बाद डीजीपी कपिल गर्ग ने एक नई रणनिती बनाई और प्रदेश की पुलिस के लिए एक आदेश जारी किया और सक्रिय रुप से वांछित रहे अपराधियों को पकड़ने के लिए थाने से लेकर रेंज स्तर तक वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के आदेश दिए. 

इसके अलावा पुलिस विभाग में वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी, उचित प्रकरण में ईनाम राशि के आदेश, विशेष दलों का गठन, अपराधियों के विरुद्ध निरोधात्मक धाराओं में कार्रवाई, दर्ज प्रकरणों को केस ऑफिसर स्कीम में लेना तथा अपराधियों को अधिक से अधिक सजा दिलवाने की योजना तैयार की गई. इस अभियान के तहत पहले 3 महिने में ही पुलिस ने करीब 1 हजार वांछित चल रहे अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया था.

 इन गिरफ्तार 9 राज्य स्तरीय अपराधियों में से 8 अपराधियों पर 2 हजार से लेकर 10 हजार तक का इनाम भी घोषित किया हुआ था. प्रदेश स्तर पर चलाए जा रहे टॉप 10 अपराधियों की गिरफ्तारी के अभियान के तहत पुलिस ने 2 महिनों में 800 से अधिक थाना स्तरीय अपराधियों को गिरफ्तार किया. 

राज्य के 42 पुलिस जिलों में टॉप 10 अपराधियों में से इस अवधि में रेंच स्तर पर 34 अपराधी गिरफ्तार किए गए. राज्य स्तर पर चिहिन्त सर्वाधिक सक्रिय अपराधियों में उदयपुर से 5 हजार रूपये का ईनामी अपराधी मोहम्मद इमरान, 5 हजार रूपये का ईनामी अपराधी मुज्जफर उर्फ गोगा और 2 हजार रूपये का ईनामी अपराधी राजू उर्फ राजकुमार को गिरफ्तार किया गया है. इसी तरह से चितौड़गढ़ से 2 हजार रूपये का ईनामी अपराधी महेन्द्र कंजर और 2 हजार रूपये का ईनामी अपराधी जगदीश गायरी को गिरफ्तरार किया गया. इसी तरह से कोटा शहर से 2 हजार रूपये का ईनामी अपराधी रियाज अहमद, झालावाड़ से अपराधी हेमराज माली, सीकर से 10 हजार रूपये का ईनामी अपराधी विक्रम मीणा और करौली से 10 हजार रूपये का ईनामी अपराधी कल्ला को भी गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली है.

पुलिस अपराधियों को पकड़ने के लिए समय समय पर नई रणनितियां बनाती रहती है. लेकिन इस बार बनाई रणनिती को जल्द ही सफलता मिलने लगी है. और इसी के चलते प्रदेश के अपराधियों में खाकी से खौफ भी पैदा होने लगा है. उम्मीद है जल्द ही पुलिस चिन्हित किए शेष अपराधियों को भी गिरफ्तार करेगी और आमजन में भी खाकी के प्रति विश्वास पैदा कर सकेगी.