राजस्थान: नशीली दवा पिलाकर बनाया महिला का वीडियो, 1 साल तक ब्लैकमेल कर करता रहा दुष्कर्म

जूस में नशीला पदार्थमिलाया हुआ था. इस कारण जूस पीने के बाद वह बेहोश हो गई तो अशोक ने उससे दुष्कर्म किया और वीडियो बना लिया.

राजस्थान: नशीली दवा पिलाकर बनाया महिला का वीडियो, 1 साल तक ब्लैकमेल कर करता रहा दुष्कर्म
प्रतीकात्मक तस्वीर

भूपेश आचार्य, चौहटन: राजस्थान के चौहटन की निवासी एक एएनएम ने मामला दर्ज करवाया कि वह नवंबर, 2016 से निजी अस्पताल चौहटन में एएनएम के रूप में कार्यरत है. अस्पताल में उसकी रात के समय ड्यूटी रहती थी. अस्पताल में कार्यरत स्टाफ के विश्राम के लिए एक कमरा दिया हुआ था. करीब एक साल पूर्व जब रात में वह अस्पताल में ड्यूटी पर थी तब उसके साथ काम करने वाले स्टाफ अशोक परिहार पुत्र भोजाराम मेघवाल निवासी बिजराड़ करीब 10 बजे जूस लेकर उसके कमरे में आया. 

जूस में नशीला पदार्थमिलाया हुआ था. इस कारण जूस पीने के बाद वह बेहोश हो गई तो अशोक ने उससे दुष्कर्म किया और वीडियो बना लिया. सुबह जब उसे होश आया तो दुष्कर्म होने का पता चला. इस पर उसने अशोक से घटना को लेकर पूछा तो वह वीडियो दिखाकर उसे धमकाने लगा कि अगर किसी को बताया तो वीडियो वायरल कर बदनाम कर देगा. 

करीब पांच महीने बाद अशोक अपने साथ हॉस्पिटल के डॉ. सुरेंद्र माहेश्वरी को लेकर आया. माहेश्वरी को उसके विश्राम कक्ष में छोड़ कर चला गया. माहेश्वरी ने कहा कि वीडियो मैंने भी देखा मैं पूरे स्टाफ को इस बारे में बता दूंगा. इस पर वह डर गई और सुरेंद्र माहेश्वरी ने भी उससे दुष्कर्म किया, पर वह चुप रही. कुछ दिन पहले डॉ. सुरेंद्र माहेश्वरी का भाई प्रेम कुमार भी आया और उसने भी दुष्कर्म किया. 

इसके बाद तीनों आरोपी उसे वीडियो वायरल करने की धमकी देकर सामूहिक दुष्कर्म करते रहे. 12 अगस्त की रात को सुरेंद्र माहेश्वरी ने उसे नौकरी से निकालने की धमकी देते हुए दुष्कर्म किया. 16 अगस्त को जब वह अस्पताल पहुंची तो उसे कहा कि अब उसकी अस्पताल को जरूरत नहीं है. इस पर उसने चौहटन थाने में मामला दर्ज करवाया. पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच करवा दी गई है तथा मामले को गंभीरता से लेते हुए अनुसंधान शुरू कर दिया है.