बांदीकुई SDM ट्रेप केस: पिंकी मीणा के घर पहुंची ACB की टीम, पूरे गांव में मचा हड़कंप

पुलिस की गाड़ियां पहुंचने के बाद गांव में हड़कंप सा मच गया तो वहीं गांव में यह कार्रवाई चर्चा का विषय बन गई. काफी देर तक एसीबी की टीम ने घर में तलाशी ली.

बांदीकुई SDM ट्रेप केस: पिंकी मीणा के घर पहुंची ACB की टीम, पूरे गांव में मचा हड़कंप
छापेमारी के दौरान एसीबी टीम ने एसडीएम मीणा के परिजनों के फोन भी बंद करवा दिए.

प्रदीप सोनी, चौमूं: जयपुर एसीबी (Jaipur ACB) की टीम ने आज दौसा (Dausa) के बांदीकुई में पदस्थापित एसडीएम पिंकी मीणा (SDM Pinky Meena) को 5 लाख रुपयों की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है. कार्रवाई के बाद एसीबी की एक टीम चौमूं के चिथवाड़ी पहुंची, जहां पिंकी मीणा के पैतृक मकान पर भी एसीबी ने तलाशी ली. 

यह भी पढ़ें- ACB की बड़ी कार्रवाई, रिश्वतखोरी के केस में Dausa और बांदीकुई SDM को किया Arrest

 

यहां पुलिस की गाड़ियां पहुंचने के बाद गांव में हड़कंप सा मच गया तो वहीं गांव में यह कार्रवाई चर्चा का विषय बन गई. काफी देर तक एसीबी की टीम ने घर में तलाशी ली तो वहीं इस दौरान सामोद थाना पुलिस (Samod Thana Police) भी मौके पर मौजूद रही. बता दें कि गिरफ्तार हुई एसडीएम पिंकी मीणा चौमूं के चीथवाड़ी गांव की निवासी हैं.

यह भी पढ़ें- Bhilwara में 7 हजार की रिश्वत लेते हैडकांस्टेबल गिरफ्तार, जानिए किस एवज में मांगी राशि

 

प्रत्येक कमरे में हुई छानबीन
एसीबी निरीक्षक नीरज भारद्वाज के नेतृत्व में टीम शाम करीब साढ़े तीन बजे चीथवाड़ी गांव में पहुंची, जहां पर एसडीएम मीणा के पैतृक मकान में छापेमारी की. टीम ने प्रत्येक कमरे को खंगाला. टीम देर शाम तक छानबीन करती रही.

परिजनों में मचा हड़कंप
जैसे ही एसडीएम मीणा के रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े जाने की सूचना मिली, परिजनों में हड़कंप मच गया. मीणा के गांव में दो पैतृक मकान हैं. एक मकान गांव में तो दूसरा मकान गांव से बाहर बनाया हुआ है. टीम ने दोनों मकानों को खंगाला. देर शाम तक टीम के सदस्य दोनों मकानों पर मौजूद रहे.

गांव में दिनभर रही चर्चा
एसडीएम पिंकी मीणा के पकड़े जाने की सूचना से गांव में दिनभर चर्चा का माहौल रहा. चाय की थड़ी चौपाल और ढाणियों में लोग चर्चा करते दिखे. एसीबी की टीम एवं कार्रवाई को देखने के लिए लोग मकान के गेट के बाहर पहुंच गए लेकिन टीम ने लोगों को मौके से वापस भेज दिया. आसपास के लोग छतों पर बैठकर कार्रवाई को देखते रहे.

पिता किसान और माता गृहणी
पिंकी मीणा के पिता किसान और माता गृहणी हैं. मां जिला परिषद सदस्य भी रह चुकी हैं. मीणा ने स्कूली शिक्षा सरकारी स्कूल से ही पूरी की है. पिंकी पढऩे में काफी होशियार रही हैं. उसने पहली बार में ही आरएएस की परीक्षा पास कर ली थी लेकिन 21 साल नहीं होने के कारण इंटरव्यू नहीं दे पाई थी. इसके बाद 2016 में फिर से मेरिट के साथ परीक्षा क्लीयर की, जिसके बाद पहली पोस्टिंग टोंक मिली थी. इनका एक भाई न्यायिक अधिकारी और दो भाई शिक्षा विभाग में नियुक्त हैं. वहीं इनकी एक भाभी भी शिक्षा विभाग में नियुक्त है.

परिजनों के मोबाइल फोन कराए बंद
छापेमारी के दौरान एसीबी टीम ने एसडीएम मीणा के परिजनों के फोन भी बंद करवा दिए. टीम ने मकान में बने कमरों की तलाशी ली. साथ ही टीम ने गांव के बाहर बने मकान पास सड़क पर लगे गेट को भी बंद करवाया था ताकि बाहरी व्यक्ति जांच के दौरान मकान तक नहीं पहुंच सके.

रात 8 बजे तक तलाशी
एसीबी की टीम के सदस्यों ने एएसपी हिमांशू कुमार और निरीक्षक नीरज भारद्वाज के नेतृत्व में एसडीएम मीणा के घर सर्च अभियान चलाया. करीब पांच घंटे तक टीम के सदस्यों ने एसडीएम मीणा के पैतृक दोनों मकानों को खंगाला. जयपुर देहात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसीबी नरोत्तम लाल वर्मा ने बताया कि टीम आठ बजे तक मकान में तलाशी लेती रही.