close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बीजेपी के बाद कांग्रेस भी करेगी छात्राओं की साइकिल के रंग में बदलाव

साल 2016-17 के सत्र में बीजेपी सरकार की ओर से इन साइकिलों का रंग बदलने का निर्णय लिया गया था, इसमें करीब 9 लाख से ज्यादा केसरिया साइकिलों का वितरण किया गया.

राजस्थान: बीजेपी के बाद कांग्रेस भी करेगी छात्राओं की साइकिल के रंग में बदलाव
वहीं अब सत्ता में आने के साथ ही कांग्रेस ने इन साइकिलों का रंग बदलने के संकेत दिए हैं.

जयपुर: प्रदेश में सत्ता बदलने के साथ ही पाठ्यक्रम से शुरू हुआ बदलाव का दौर अब साइकिलों के रंग पर पहुंच चुका है. पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान वर्ष 2013 में 9वीं कक्षा में जाने वाली बालिकाओं निशुल्क साइकिल देने की योजना की शुरूआत हुई थी, जिसे बीजेपी सरकार ने भी जारी रखा था. लेकिन वर्ष 2016-17 के सत्र से बीजेपी सरकार ने इन काली साइकिलों का रंग बदलकर केसरिया कर दिया था. जिसे त्याग और बलिदान के रूप में प्रस्तुत किया गया था, लेकिन कांग्रेस की सरकार के फिर से सत्ता में आने के साथ ही अब साइकिलों का रंग काला होने के संकेत दिए जा रहे हैं. जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में फिर से आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है.

2013 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने स्कूल में पढ़ने वाली बालिकाओं के लिए साइकिल वितरण की योजना बनाई थी और पहले ही साल 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली करीब 3 लाख छात्राओं को निशुल्क साइकिलों का वितरण किया गया. 2013 में बीजेपी सरकार ने सत्ता में आने के बाद भी इस योजना को छात्राओं के हित में आगे बढ़ाने का निर्णय लिया. बीजेपी सरकार ने वर्ष 2014-15 और वर्ष 2015-16 के सत्र में काले रंग की साइकिलों का ही वितरण किया.

लेकिन, वर्ष 2016-17 के सत्र में बीजेपी सरकार की ओर से इन साइकिलों का रंग बदलने का निर्णय लिया गया, जो सत्र 2016-17, सत्र 2017-18 और सत्र 2018-19 में तीन साल तक चला. इसमें करीब 9 लाख से ज्यादा केसरिया साइकिलों का वितरण किया गया. वर्ष 2018 में सत्ता में आने के साथ ही कांग्रेस ने इन साइकिलों का रंग बदलने के संकेत दिए हैं. जिसको अब इस सत्र से मूर्त रूप दिए जाने की योजना तैयार कर ली गई है.

कांग्रेस के सत्ता में आने के साथ ही बीजेपी सरकार में जो भी आदेश हुए उनकी समीक्षा के लिए विभिन्न कमेटियों का गठन किया गया. इनमें से एक था साइकिलों का रंग, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की बीजेपी ने सिर्फ अपना हित साधने के लिए शिक्षा में कई बदलाव किए, जिनकी जरुरत तक नहीं थी. यहां तक कि बीजेपी ने साइकिलों का रंग भी बदल दिया, लेकिन जो कुछ बीजेपी सरकार ने खराब किया था उसे बदला जाएगा. शिक्षा मंत्री ने संकेत देते हुए कहा इस साल के साइकिलों का रंग बदला हुआ नजर आएगा.

पहले पाठ्यपुस्तकों और उसके बाद इतिहास में बदलाव के बाद अब साइकिलों के रंग में होने वाले बदलाव को लेकर पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लिया है. पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा पर आरोप लगाते हुए कहा कि सिर्फ मुख्यमंत्री और कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष को खुश करने के लिए शिक्षा मंत्री ये आदेश निकाल रहे हैं. साइकिलों के रंग बदलने के निर्णय के बाद ये साबित हो गया है कि कांग्रेस को त्याग और बलिदान के रंग से भी आपत्ति हो रही है.