राजस्थान: आज शुरू होगा विधानसभा सत्र, 15 बिल किए जाएंगे पेश

मौजूदा विधासभा का आखिरी सत्र होने के कारण सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपना पूरा जोर इस सत्र में खुद को मजबूत साबित करने में लगाएंगे.

राजस्थान: आज शुरू होगा विधानसभा सत्र, 15 बिल किए जाएंगे पेश
फोटो- डीएनए

जयपुर: राजस्थान में एक बार फिर विधानसभा सत्र का आगाज होने जा रहा है. बुधवार से शुरू होने वाले 14वीं विधानसभा के ग्यारहवें और आखिरी सत्र के लिए तैयारियां पूरी हो गई हैं. विधानसभा सचिवालय ने पहले ही अपने स्तर पर निर्देश देकर प्रशासनिक और सुरक्षा व्यवस्थाओं को पुख्ता रखने को कहा है. वहीं राजनीतिक दलों ने भी अपनी-अपनी तैयारियां की हैं. 

आठ, सिविल लाइन्स में मुख्यमन्त्री वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में हुई बीजेपी विधायक दल की बैठक में इस बात के निर्देश दिए गए की पूरा सत्तापक्ष एकजुटता के साथ विपक्ष के हमलों का सामना करे और सब मिलकर पुख्ता जवाब भई दें. यह भी कहा गया कि कोई मन्त्री विपक्ष के खास निशाने पर हो तो इसका भी मजबूत जवाब दिया जाए.

इस बार भी सत्ता पक्ष की तरफ से फ्लोर मैनेजमेन्ट की जिम्मेदारी सचेतक कालूलाल गुर्जर के साथ उप-मुख्य सचेतक मदन राठौड़ और संसदीय कार्य मन्त्री राजेन्द्र राठौड़ पर होगी. सत्ता पक्ष का कहना है कि चुनाव से ठीक पहले वह भी विधानसभा के अन्तिम सत्र के लिए पूरी तरह तैयार हैं. 

मौजूदा विधासभा का आखिरी सत्र होने के कारण सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपना पूरा जोर इस सत्र में खुद को मजबूत साबित करने में लगाएंगे. विपक्ष इस बात की कोशिश करेगा कि वह किसी न किसी तरह सरकार को या तो निरुत्तर करे या ऐसे मुद्दों पर जवाब देने के लिए मजबूर करे जिन पर सरकार बात ही नहीं करना चाहती.

यह बिल होंगे पेश:
बुधवार को पहले दिन राजस्थान मूल्य परिवर्धित कर संशोधन विधायक 2018, राजस्थान स्टांप संशोधन अध्यादेश 2018, जयपुर जल प्रदाय एवं सीवरेज बोर्ड अध्यादेश 2018, जगद्रुरू रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत संशोधन अध्यादेश 2018 पेश किए जाएंगे. वहीं, राजस्थान माल एव सेवा कर संशोध विधायक 2018, राजस्थान लोकायुक्त-उप लोकायुक्त संशोधन विधेयक 2018, राजस्थान विधानसभा संशोधन विधेयक 2018, डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन आयुर्वेद विश्वविद्यालय जोधपुर विधेयक 2018, राजस्थान निजी विश्वविगद्यालयों की विधियां संशोधन विधेयक 2018, अपेक्स विश्वविद्यालय जयपुर विधेयक 2018, श्याम विश्वविद्यालय जयपुर विधेयक 2018 आदि पेश किए जाएंगे.