close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नागपुर में होने वाले अनुसूचित जाति मोर्चा के रार्ष्टीय अधिवेशन के लिए तैयार राजस्थान BJP

बीजेपी को राजस्थान में मिली हार के बाद अब पूरा फोकस लोकसभा चुनाव पर है. इसको लेकर विभिन्न मोर्चां की राष्ट्रीय स्तरीय बैठकें और अधिवेशन आयोजित किए जा रहे हैं.

नागपुर में होने वाले अनुसूचित जाति मोर्चा के रार्ष्टीय अधिवेशन के लिए तैयार राजस्थान BJP
बैठक में दस प्रतिशत आरक्षण मामले पर भी स्थिति स्पष्ट की जाएगी.

जयपुर/ अंकित तिवाड़ी: भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियां तेज कर दी हैं. इसको लेकर बीजेपी संगठन से जुड़े विभिन्न मोर्चा रार्ष्टीय अधिवेशन कर मुद्दों पर मंथन कर रहे हैं. नागपुर में बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा का रार्ष्टीय अधिवेशन 19 और 20 जनवरी को होगा. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इसका उद्घाटन करेंगे और समापन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहेंगे. 

जयपुर में अधिवेशन की तैयारियों को लेकर प्रदेश अनुसूचित जाति मोर्चा भी तैयार है. इसको लेकर गुरुवार को राज्यसभा सांसद सत्यनारायण जटिया ने प्रदेश मुख्यालय में प्रेसवार्ता की. इसमें उनहोंने कहा कि इस बैठक में दस प्रतिशत आरक्षण मामले पर भी स्थिति स्पष्ट की जाएगी.

नागपुर अधिवेशन रहेगा अहम
बीजेपी को राजस्थान में मिली हार के बाद अब पूरा फोकस लोकसभा चुनाव पर है. इसको लेकर विभिन्न मोर्चां की राष्ट्रीय स्तरीय बैठकें और अधिवेशन आयोजित किए जा रहे हैं. बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा का राष्ट्रीय अधिवेशन जनवरी में नागपुर में होने जा रहा है. प्रदेश से बड़ी संख्या में अनुसूचित जाति मोर्चा के पदाधिकारी और सदस्य इसमें भाग लेंगे. 

बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में आए राज्यसभा सांसद सत्यनारायण जटिया ने मीडिया से रुबरू होते हुए कहा कि यह आयोजन बीजेपी के शासनकाल में हुए कमजोर वर्ग के जनकल्याणकारी कार्यों पर फोकस करने वाला होगा. साथ ही बैठक में हाल ही में दिए गए आर्थिक आरक्षण की मंजूरी पर स्थिति स्पष्ट होगी. अधिवेशन के बाद अनुसूचित जाति मोर्चा देशभर में अपने पदाधिकारियों के जरिए मोदी सरकार की उपलब्धियां दर्शाएगा. 

अनुसूचित जाति से जुड़े विषयों पर मंथन
नागपुर में होने वाले अधिवेशन में अनुसूचित जाति से जुड़े विषयों पर मंथन होगा. साथ ही अनुसूचित जाति मोर्चा की ओर से उठाई गई मांगों पर भी चर्चा होगी. साथ ही केंद्र सरकार की ओर से अनुसूचित जाति के लिए किए गए कामों की जानकारी प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने पर चर्चा होगी. इस अधिवेशन में अनुसूचित जाति मोर्चा से जुड़े और योजना के लाभार्थियों का पूर्ण समर्थन हासिल करने की कोशिश की जाएगी. अधिवेशन में देशभर से पांच हजार से अधिक सदस्य मौजूद रहेंगे. राजस्थान से भी 250 कार्यकर्ता इस सम्मेलन में शिरकत करेंगे. बैठक का मकसद लोकसभा चुनाव से पहले खास वर्ग के लिए किए गए कामों की जानकारी उन तक पहुंचाना हैं.