close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: दुल्हन की किडनैपिंग के मामले में BJP ने गहलोत सरकार को ठहराया जिम्मेदार

अगर पुलिस दोषियों तक पहुंच कर विवाहित युवती की बरामदगी नहीं करती है तो बीजेपी की ओर से प्रदेश स्तरीय आंदोलन कर जवाब मांगा जाएगा. 

राजस्थान: दुल्हन की किडनैपिंग के मामले में BJP ने गहलोत सरकार को ठहराया जिम्मेदार
प्रदेश में चुनावी सरगर्मी के बीच बीजेपी अब आक्रामक हो रही है

सीकर: राजस्थान के सीकर में दुल्हन किडनैपिंग प्रकरण में प्रदेश बीजेपी ने अशोक गहलोत सरकार पर कड़ा प्रहार किया है. बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में प्रेस वार्ता कर बीजेपी नेता कालीचरण सराफ ने कहा कि गहलोत सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल हो चुकी है. उन्होंने कहा कि अपराधियों में कानून का खौफ पूरी तरह खत्म हो गया है. हालात ऐेसे हैं कि शादी के बाद नव-विवाहित दंपत्तियों को पुलिस पहरे में घर भिजवाने की नौबत आ गई है. 

बीजेपी ने बताया निदंनीय घटना
सीकर में नवविवाहित युवती के अपहरण पर प्रदेश बीजेपी ने निदंनीय करार दिया है. बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में मीडिया से मुखातिब होते हुए मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ ने कहा कि अपराधी इतना समय बीतने के बाद भी पुलिस की पकड़ से दूर है. अगर पुलिस दोषियों तक पहुंच कर विवाहित युवती की बरामदगी नहीं करती है तो बीजेपी की ओर से प्रदेश स्तरीय आंदोलन कर जवाब मांगा जाएगा. 

सराफ का कहना था कि अपराधियों की यह हिम्मत बीजेपी सरकार के समय नहीं थी. सीकर जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूरी पर यह घटना होती है और पुलिस सुराग तक नहीं लगा पा रही हैं यह शर्मनाक स्थिति है. बीजेपी प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था की नाकामी का मसला राजय स्तर पर आंदोलन कर उठाएगी. अगर आवश्यकता रही तो धरना प्रदर्शन भी किए जाएगें. 

गहलोत के प्रचार पर लगे बैन
कालीचरण सराफ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद की जाति को लेकर दिए राजनीतिक बयान पर भी आपत्ति जताई. उन्होने कहा कि पिछड़ी जाति के लोग आगे बढ़ रहे हैं यह कांग्रेस देख नहीं पा रही है. यह ना केवल राष्ट्रपति का अपमान हैं साथ ही पूरे दलित समुदाय का भी अपमान है. हार सामने देखकर मुख्यमंत्री बौखलाएं हुए है, ऐसे में इस तरह की बयानबाजी कर रहे है. सराफ ने निर्वाचन आयोग से मांग करते हुए कहा कि ऐसे बयानों के चलते गहलोत के राजनीतिक प्रचार पर रोक लगाई जाए. 

गरमाई राजनीति
प्रदेश में चुनावी सरगर्मी के बीच बीजेपी अब आक्रामक हो रही है, सीकर की घटना को लेकर पार्टी अब गहलोत सरकार की कानून व्यवस्था की नाकामी को जनता के बीच आंदोलन के रूप में ले जाने की तैयारी में है. फिलहाल इसका मकसद चुनावी है लेकिन बीजेपी के इस मुद्दे को उठाने के बाद पुलिस खुफिया तंत्र भी अधिक सक्रियता से अपहरण की गई युवती को तलाश सकता है. लेकिन इतना जरुर हैं प्रदेश में हुई इस आपराधिक घटना से राजनीति गरमा गई हैं.