राजस्थान बोर्ड की 12वीं विज्ञान का परिणाम जारी, एक बार फिर छात्राओं ने मारी बाजी

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की 12वीं विज्ञान का परीक्षा परिणाम आज शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कार्यालय से जारी किया. 

राजस्थान बोर्ड की 12वीं विज्ञान का परिणाम जारी, एक बार फिर छात्राओं ने मारी बाजी
फाइल फोटो

मानवीर सिंह चुण्डावत, अजमेर: माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की 12वीं विज्ञान का परीक्षा परिणाम आज शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कार्यालय से जारी किया. शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह लैपटॉप का बटन दबाकर परीक्षा परिणाम जारी किया. इस दौरान बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारोली भी मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें: किसानों के लिए CM गहलोत ने केंद्र सरकार से मांगा सहयोग, कही यह बड़ी बात

इस बार माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की सीनियर सेकेंडरी के विज्ञान वर्ग में 239769 परीक्षार्थियों ने नामांकन किया था जिनमें से 237305 परीक्षार्थीयो ने परीक्षा दी. जारी परिणाम के अनुसार कुल 91.96 प्रतिशत परीक्षार्थी उतरे. वहीं, एक बार फिर छात्रों पर छात्राओं ने बाजी मारी है एक और जहां छात्राओं का सफलता प्रतिशत 94.90 रही छात्रों का सफलता प्रतिशत 90.61 रहा. परिणाम जारी करने के बाद शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारोली सहित सभी पदाधिकारियों तारीफ करते हुए कहा कि पूरे देश में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान में कोरोना का काल में सबसे बड़ी परीक्षा आयोजित की है. साथ ही परीक्षा भी सुरक्षित व शांति पूर्ण रुप से संपन्न हुई. परीक्षा संपन्न होने के बाद चंद दिनों के भीतर ही पहला बोर्ड परिणाम जारी कर दिया गया है.

शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि सीबीएससी की तरह आरबीएससी में भी पाठ्यक्रम में कटौती हो सकती है. इसके लिए कमेटी का गठन किया गया है. जिसमें शिक्षाविद् व शिक्षा विभाग के अधिकारी जुड़े हैं वह इस विषय में समीक्षा कर रहे हैं कि पाठ्यक्रम में किस तरह से कम किया जा सकता है और विद्यार्थियों को राहत दी जा सकती है. इस महामारी के दौरान कई बदलाव किए गए हैं इसी के चलते कमेटी बनाकर समीक्षा की जा रही है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा को लेकर भी कोविड-19 महामारी से पहले निर्णय लिया जाना था, लेकिन महामारी के चलते कोई भी कार्य आगे नहीं बढ़ाया गया. 5 अगस्त को रीट की अंतिम तारीख समाप्त हो रही है. ऐसे में उसे आगे बढ़ाने की आवश्यकता है. जिसमें कई कमिटमेंट किए जाने हैं. इसे लेकर सरकार व प्रशासन अपनी तैयारियों में जुटा है. जल्द ही इस पर फैसला लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: पैरेंट्स को गहलोत सरकार ने दी बड़ी राहत, राजस्थान में अब 'स्कूल नहीं, फीस नहीं' लागू