close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान बजट 2019: जानिए सरकार ने जनता की सेहत का कितना रखा ध्यान

प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए राज्य में 200 नए उप स्वास्थ्य केंद्र खोले जायेंगे, राज्य में 5 नए ट्रोमा सेंटर खोले जाएंगे.

राजस्थान बजट 2019: जानिए सरकार ने जनता की सेहत का कितना रखा ध्यान
राज्य में 50 नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोले जाएंगे.

जयपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा में बजट पेश कर दिया है. वहीं गहलोत सरकार ने राजस्थान बजट 2019 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य क्षेत्र का ध्यान रखते हुए बहुत सी घोषणएं की हैं. नागरिकों को उनके निवास के नजदीक ईलाज मिल सके इसलिए 'जनता क्लिनिक' खोले गए है. इन क्लीनिकों में निशुल्क दवा योजना की दवाएं उपलब्ध भी करवाई जाएंगी. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बजट पेश करते हुए कहा कि गरीब निर्धन को निशुल्क ईलाज उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री निशुल्क दवा-जांच योजना शुरू की थी, लेकिन पिछले सरकार के कार्यकाल में योजना को प्राथमिकता में नहीं रखा गया.' योजना के तहत अब तक 608 दवाएं निशुल्क दी जा रही थी, लेकिन अब किडनी ,हार्ट,कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों की दवाओं सहित कुल 104 प्रकार की नई दवाएं इस योजना में शामिल करने की घोषणा . 

साथ ही मेडिकल कॉलेज से संबंधित अस्तपालों में निशुल्क जाचों की संख्या 70 से बढ़ाकर 90 की गई है. जयपुर स्थित प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल SMS में बुजुर्ग, बीपीएल परिवारों को सीटी स्कैन ,एमआरआई जांच सुविधा निशुल्क उपलब्ध है. इस योजना को अब प्रदेश के अन्य सभी मेडिकल कॉलेज में भी लागू करने की घोषणा की गई.

वहीं प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए राज्य में 200 नए उप स्वास्थ्य केंद्र खोले जायेंगे, राज्य में 5 नए ट्रोमा सेंटर खोले जाएंगे. राज्य में 50 नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोले जाएंगे. राज्य के 10 उप स्वास्थ्य केन्द्रों को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तब्दील किया जायेगा. 10 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जायेगा तब्दील.

राज्य के अलग अलग सरकारी अस्पतालों में कुल 500 बेड्स बढाये जायेंगे,गंगापुर सिटी जिला अस्पताल की बढ़ाई जाएँगी सुविधाएं. शिशु मृत्यू दर में कमी लाने के लिए राज्य के चिकित्सा संस्थानों में जन्म लेने वाली सभी बालिकाओं को इंदिरा प्रियदर्शनी बेबी केयर किट उपलब्ध करवायी जाएगी.

प्रदेश के युवा पान मसाला, तंबाकू सेवन से दूर इसलिए मजबूत कार्य योजना बनाकर अभियान चलायें जायेंगे. राजकीय चिकित्सालय कुचामन सिटी में ब्लड बैंक की होगी स्थापना. जोधपुर में कैंसर रोगियों के उपचार हेतु 21 करोड़ की लागत से मशीन लगाई जाएगी. जोधपुर मथुरादास अस्पताल में मल्टी स्टोरी आईसीयू वार्ड का होगा निर्माण. 

बीकानेर मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों में प्रसुताओं को दर्द रहित सुविधा उपलब्ध कराने के लिए नई यूनिट की शुरुआत की जाएगी. गंगानगर ,हनुमानगढ़ जिले के ग्रामीण और दूर दराज इलाकों में बेहतर चिकित्सा सेवाओं के लिए मेडिकल कॉलेज खोलने का निर्णय लिया गया था, लेकिन पिछली सरकार द्वारा इसका कार्य रोक दिया गया. अब पुनः गंगानगर में मेडिकल कॉलेज का कार्य शुरू होगा.