close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मुख्य न्यायाधीश एस रविंद्र भट्ट ने कलराज मिश्र को दिलाई राज्यपाल पद की शपथ

कलराज मिश्र दोपहर एक बजकर 10 मिनट पर शपथ लिया. हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एस रविंद्र भट्ट नए राज्यपाल को शपथ दिलाया.

राजस्थान: मुख्य न्यायाधीश एस रविंद्र भट्ट ने कलराज मिश्र को दिलाई राज्यपाल पद की शपथ
कलराज मिश्र ने 2017 में कलराज मिश्र ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था.

जयपुर: कलराज मिश्र ने जयपुर में आज राज्यपाल के पद का कार्यभार ग्रहण कर लिया. कलराज मिश्र दोपहर एक बजकर 10 मिनट पर शपथ लिया. हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एस रविंद्र भट्ट नए राज्यपाल को शपथ दिलाया. प्रदेश के नवनिर्वाचित राज्यपाल के शपथग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया समेत प्रदेश कैबिनेट के मंत्री और कांग्रेस बीजेपी के तमाम दिग्गज नेता मौजूद रहे.

बता दें कि रविवार को कलराज मिश्र जयपुर पहुंचे थे जहां उनको जोरदार स्वागत किया गया. एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट, विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी, सीएस डीबी गुप्ता, डीजीपी राजस्थान भूपेन्द्र सिंह ने कलराज मिश्र का स्वागत किया. एयरपोर्ट से बाहर आने पर सूबे के मंत्रियों ने बुके देकर नए राज्यपाल का स्वागत किया. साथ ही एयरपोर्ट के बाहर आरएसी की 5वीं बटालियन ने कलराज मिश्र को गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

वहीं राज्यपाल कलराज मिश्र ने शपथ ग्रहण से पहले प्रथम पूज्य मोतीडूंगरी गणेश मंदिर पहुंचे थे. जहां उन्होने पत्नी सत्यवती मिश्र के साथ पूजा अर्चना की. साथ ही राज्यपाल मिश्र के लिए राजभवन में अशोक स्तम्भ लगी गाड़ी लगाई तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि हमें लोगों की सुविधा का ध्यान रखना है. इसलिए साधारण गाड़ी लगाओ. उन्होंने पुलिस जाब्ता लेने से भी मना कर दिया और साधारण आदमी के जैसे मंदिर पहुंचे. उनके लिए किसी जगह ट्रैफिक नहीं रोका गया. 

बता दें कि कलराज मिश्र इससे पहले मोदी सरकार में 2017 तक सूक्ष्‍म, लघु और उद्यम मंत्री (एमएसएमई) रहे. वह तीन बार राज्‍यसभा के भी सदस्‍य रहे. कलराज मिश्र ने  2017 में कलराज मिश्र ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था. आधिकारिक तौर पर कलराज मिश्र ने लोकसभा चुनाव (Lok sabha elections 2019) नहीं लड़ने का ऐलान किया था. हालांकि उस समय मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके कलराज मिश्र को हरियाणा का चुनाव प्रभारी बनाया गया था.