भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है: अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि, भगवान राम हमारी संस्कृति और सभ्यता में एक अद्वितीय स्थान रखते हैं.

भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है: अशोक गहलोत
राम मंदिर निर्माण को लेकर हर तरफ उत्साह और पर्व का माहौल है.

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बुधवार को कहा कि, भगवान राम  (Lord Ram) हमारी संस्कृति और सभ्यता में एक विशिष्ट स्थान रखते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने बुधवार को राम मंदिर (Ram Mandir) के लिए भूमि पूजन अनुष्ठान किया.

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा, 'भगवान राम हमारी संस्कृति और सभ्यता में एक अद्वितीय स्थान रखते हैं. उनका जीवन हमें सच्चाई, न्याय, समानता, करुणा और भाईचारा सिखाता है. हमें प्रभु राम द्वारा दिए गए मूल्यों के आधार पर एक समतावादी समाज की स्थापना पर ध्यान देने की आवश्यकता है.'

उन्होंने कहा, 'भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है.' बता दें कि, सदियों से चले आ रहे संघर्ष का बुधवार को अंत हो गया. लंबे समय से टाट में विराज रहे प्रभु राम के अयोध्या में मंदिर निर्माण का भूमि पूजन बुधवार को संपन्न हुआ. इस दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया.

वैदिक-मंत्रौच्चार से पूरी अयोध्या गूंज उठी है. इस ऐतिहासिक भव्य समारोह के साक्षी न सिर्फ करोड़ों भारतवासी हुए, बल्कि पूरी दुनिया हुई. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर हर तरफ उत्साह और पर्व का माहौल है. इसकी धूम राजस्थान में भी देखने को मिल रही है.

(इनपुट-आईएएनएस)