PM मोदी के 21 दिन इंडिया लॉकडाउन का CM गहलोत ने किया समर्थन, बोले- बेहद खुशी...

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक तरह से कर्फ्यू ही है. यह जनता कर्फ्यू से तोड़ा ज्यादा सख्त है. 

PM मोदी के 21 दिन इंडिया लॉकडाउन का CM गहलोत ने किया समर्थन, बोले- बेहद खुशी...
राजस्थान सरकार ने पहले से ही 31 मार्च तक टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था.

जयपुर: कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार (24 मार्च) को पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक तरह से कर्फ्यू ही है. यह जनता कर्फ्यू से तोड़ा ज्यादा सख्त है. कोरोना से लड़ने के लिए उठाया गया यह कदम बहुत आवश्यक है. आपके जीवन को बचाना, आपके परिवार को बचाना मेरी, भारत सरकार की देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की सबसे बड़ी प्राथमिकता है. 

वहीं पीएम मोदी के इस 21 दिन के लॉकडाउन का राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने खुले दिल से समर्थन किया है. ट्वीट करते हुए सीएम गहलोत ने खुशी जताई और लिखा कि मुझे खुशी है कि राजस्थान, पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा करने वाला पहला राज्य था. मैं पीएम मोदी द्वारा किए गए 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा का समर्थन करता हूं. कोरोना की लड़ाई एकसाथ लड़ते हैं. 

बता दें कि कोरोना वायरस के मद्देनजर राजस्थान सरकार ने पहले से ही 31 मार्च तक टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था हालांकि, इस दौरान रोजमर्रा की जरूरत वाली सामानों जैसे सब्जी और दूध की दुकानों के साथ-साथ मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे. इनके अलावा कोई दुकान नहीं खुलेगी. इससे पहले कुछ राज्यों ने कुछ शहरों में लॉकडाउन किया है लेकिन राजस्थान इसे पूरे सूबे में लागू करने वाला पहला राज्य बन गया है.

दरअसल, कोरोना वायरस को लेकर राजस्थान सरकार बेहद सजगता दिखा रही है. गहलोत सरकार ने सबसे पहले पूरे में लॉकडाउन करने की घोषणा कर दी थी. सीएम खुद लगातार सभी स्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं. राजस्थान में केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों को ही अनुमति मिलेगी. स्टेट हाईवे से जुड़े सभी टोल हो बंदकर दिए गए हैं. 

लॉकडाउन का मतलब होता तालाबंदी यानी किसी व्यक्ति या जगह को बंद कर दिया जाता है. विशेष हालातों में लॉकडाउन लगाया जाता है. इसमे लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है. यह कुछ-कुछ कर्फ्यू जैसे ही होता है. बस फर्क यह है कि लॉकडाउन किसी आपदा या महामारी के वक्त लागू किया जाता है. एक तरह का सुरक्षात्मक उपाय है. कर्फ्यू की तरह ही लॉकडाउन में भी लोगों को घर से निकलने की अनुमति नहीं होती है. बहुत जरूरी काम जैसे दवा, खाने-पीने का सामान के लिए ही घर से बाहर जा सकते हैं.