close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: कांग्रेस 193 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, 7 सीटों पर होगा गठबंधन

कांग्रेस ने अपनी पहली लिस्ट में कुल 152 सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा की थी. जिसमें 46 नए चेहरों को जगह दी गई थी.

राजस्थान: कांग्रेस 193 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, 7 सीटों पर होगा गठबंधन
वहीं सूची में 15 वंशवाद प्रत्याशियों को भी जगह दी गई.

दिल्ली: राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लेकर कांग्रेस नें अपने 184 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. लेकिन अभी तक की मिल रही खबरों के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस 193 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और बाकी की सात सीटों को कांग्रेस ने गठबंधन के लिए छोड़ दी है. खबरों की मानें तो कांग्रेस विराट नगर, मुंडावर, किशनगढ़ बास सीट पर गठबंधन कर सकती है.  

वहीं बाली सीट एनसीपी के खाते में जा सकती है. हालांकि शरद यादव ने राजस्थान में कांग्रेस से 6 सीटें मांगी थी. वहीं खबरों की मानें तो गठबंधन को लेकर कांग्रेस और अन्य दलों की में चर्चा जारी है और अपने आखिरी पड़ाव पर है. बता दे कि आज सानी की शनिवार को सुबह ही पूर्व राज्यसभा सांसद व लोकतांत्रिक जनता दल शरद यादव. नेता अली अनवर अहमद पटेल के आवास पर पहुंचे थे. जहां पर राजस्थान में गठबंधन की सीटों पर चर्चा की जा रही थी. 

बता दें कि कांग्रेस ने अपनी पहली लिस्ट में कुल 152 सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा की थी. जिसमें से 29 एससी, 24 एसटी, ब्राह्मण और वैश्यों को कुल 20, राजपूत को 13, जाट को 23, मुस्लिमों को 9, महिलाओं को 20 और 46 नए चेहरों को जगह दी. इसके अलावा सूची में 15 वंशवाद प्रत्याशियों को भी जगह दी गई. वहीं कांग्रेस की दूसरी लिस्ट में 32 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं जिसमें कांग्रेस ने बीजेपी से बागी होकर कांग्रसे में शामिल हुए नेता मान्वेन्द्र सिंह को सीएम वसुंधरा राजे के खिलाफ झालरापाटन से उम्मीदवार बनाया है.  

वहीं बीजेपी ने सात दिसंबर को राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए दो किस्तों में 162 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है, लेकिन इनमें अब तक एक भी मुस्लिम उम्मीदवार नहीं है. इससे कुछ लोग यह मानने लगे हैं कि भाजपा विधानसभा चुनाव में हिंदू कार्ड खेल रही है. हालांकि, राजस्थान के अलवर के मूल निवासी केंद्रीय पर्यटन व संस्कृति मंत्री महेश शर्मा इस बात से इनकार करते हैं, लेकिन पार्टी के अन्य लोगों का कहना है कि भाजपा को मालूम है कि राजस्थान में मुस्लिम उसका वोट बैंक नहीं है. 

वहीं भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के महासचिव सलावत खान ने कहा कि पिछले चुनाव में पार्टी ने चार मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया. उन्होंने कहा, 'अब तक हमें पार्टी उम्मीदवारी नहीं है. हमें अभी उम्मीद है कि पार्टी मुस्लिम समुदाय से उम्मीदवार बनाने पर विचार करेगी'. राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा में 2013 में भाजपा 163 सीटों पर चुनाव जीती थी. बता दें कि बीजेपी दूसरी और तीसरी लिस्ट में भी अल्पसंख्यकों को कुछ खास महत्व नहीं दिया गया है.