राजस्थान: सदन में व्यवस्था बनाए रखने को लेकर फिर तल्ख हुए सीपी जोशी, कहा...

राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को सुबह 11 बजे प्रश्नकाल की कार्यवाही हंगामे के साथ शुरू हुई. दरअसल, कोटा संभाग में किसानों की मौत पर मुआवजे को लेकर मदन दिलावर में प्रश्न पूछा था.

राजस्थान: सदन में व्यवस्था बनाए रखने को लेकर फिर तल्ख हुए सीपी जोशी, कहा...
सदन में व्यवस्थाओं को बनाने को लेकर अध्यक्ष सीपी जोशी की तल्खी फिर नजर आई.

जयपुर: विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान मंगलवार को बीजेपी विधायकों ने हंगामा किया. बीजेपी विधायक मदन दिलावर के बार-बार बोलने से नाराज विधानसभाध्यक्ष ने उन्हें बाहर निकालने के निर्देश देने की बात बीजेपी विधायकों ने हंगामा किया. इस पर विधानसभाध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने सभी को बाहर निकलने को कह दिया. नाराज बीजेपी विधायक वैल में आकर हंगामा करने लगे.

राजस्थान विधानसभा में मंगलवार को सुबह 11 बजे प्रश्नकाल की कार्यवाही हंगामे के साथ शुरू हुई. दरअसल, कोटा संभाग में किसानों की मौत पर मुआवजे को लेकर मदन दिलावर में प्रश्न पूछा था. इस पर संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने जवाब दिया कि कुल 8 किसानों की मौत हुई है. इसमें 5 किसानों को मुआवजा दे दिया गया, जबकि 3 ने आवेदन नहीं किया. 

इसी तरह रामगंजमंडी में सर्दी की चपेट में आने से कंवर लाल की मौत हुई, लेकिन नियमों में सर्दी से मौत पर आर्थिक सहायता का प्रावधान नहीं है. इसलिए उन्हें कोई मुआवजा नहीं दिया गया. इसे लेकर दिलावर ने सवाल किया तो विधानसभाध्यक्ष ने उन्हें बैठ जाने को कहा. मगर दिलावर नहीं मानें तो जोशी ने उन्हें तल्ख लहजे में बाहर निकलने के लिए कह दिया. 

इस बात पर सभी बीजेपी विधायक अपनी जगहों पर खड़े होकर हंगामा करने लगे. इस पर भी जोशी ने सभी को बाहर जाने की बात कही. नाराज विधायक वैल में आ गए और हंगामा करने लगे. मामला शांत होने के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि संसदीय कार्यमंत्री ने उत्तर दिया कि सर्दी से मौत पर मुआवजे का कोई प्रावधान नहीं है. जबकि कृषि मंडी दो लाख रुपए तक का मुआवजा दे सकती है. 

विधानसभाध्यक्ष सीपी जोशी ने कहा कि आपदा प्रबंधन के तहत प्रश्न पूछा गया था और उसमें मुआवजे का प्रावधान नहीं है. इस पर कटारिया ने कहा कि कृषि विपणन मंत्री से प्रश्न पूछा गया था और उसमें मुआवजे का प्रावधान है. 

वहीं, कटारिया के बार-बार बोलने पर संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि राजस्थान कृषक साथी योजना-2009 के तहत मुआवजा दिया गया है. अगर इसमें सर्दी से मौत पर मुआवजे का प्रावधान है तो मैं अपनी गलती मान लूंगा. आखिरकार समझाने के बाद बीजेपी विधायक शांत हुए. लेकिन आज एक बार फिर विधानसभा में व्यवस्थाओं को बनाने को लेकर अध्यक्ष सीपी जोशी की तल्खी एक बार फिर नजर आई.