close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: विधानसभा स्टाफ और विधायकों के बीच हुआ क्रिकेट मैच, सचिन पायलट बने कप्तान

विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के साथ ही दूसरे नेताओं ने सभी खिलाड़ियों की हौसला अफजाई खुद की. सीपी जोशी ने कहा कि ऐसे आयोजन लोगों में आपसी सौहार्द और खेल भावना मजबूत करते हैं.

राजस्थान: विधानसभा स्टाफ और विधायकों के बीच हुआ क्रिकेट मैच, सचिन पायलट बने कप्तान

जयपुर: जयपुर में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की एकेडमी मैदान पर बुधवार को एक खास क्रिकेट मुकाबला खेला गया. इस मैच में विधानसभा स्टाफ का मुकाबला हुआ सदन के भीतर बैठने वाले विधायकों से. विधायकों की टीम उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट की कप्तानी में खेलने के लिए उतरी, तो विधानसभा स्टाफ की टीम भी मार्शल संजय चौधरी की अगुवाई में पूरी तरह तैयार थी. शुरुआत में विधायकों की फील्डिंग आई तो खिलाड़ियों को मैदान में तैनात करने के लिए सचिन पायलट मुस्तैद दिखाई दिए. पायलट ने फील्डिंग की सेटिंग कुछ उसी तरह करने की कोशिश की, जैसे विधानसभा चुनाव में की थी लेकिन इस बार अंतर इतना था कि बीजेपी के साथ निर्दलीय और दूसरी पार्टियों के एमएलए भी विधायकों की टीम के साथ थे. इस दौरान मंत्री रघु शर्मा और विधायक जोगेश्वर गर्ग के साथ ही बलवान पूनिया ने भी कमेन्ट्री का आनंद लिया.

भले ही विधायकों और विधानसभा स्टाफ के बीच क्रिकेट का यह मैच फ्रेंडली रहा हो लेकिन इस मैच में विधायकों ने पूरे जुझारूपन का परिचय दिया. उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट कप्तान की भूमिका में थे तो खेल मंत्री अशोक चांदना उप कप्तान के तौर पर मैदान पर मौजूद रहे. विधायकों की टीम को मैदान पर दौड़ते हुए विधानसभा स्टाफ ने 134 रन बनाए. 135 रन का लक्ष्य लेकर उतरी विधायको की टीम हालांकि लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाई, लेकिन खेल मंत्री अशोक चांदना ने मैदान पर छक्के-चौकों की बरसात से सभी का मन मोह लिया. विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी के साथ ही दूसरे नेताओं ने सभी खिलाड़ियों की हौसला अफजाई खुद की. सीपी जोशी ने कहा कि ऐसे आयोजन लोगों में आपसी सौहार्द और खेल भावना मजबूत करते हैं. उप नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी आपसी सद्भाव बढ़ाने में ऐसे आयोजनों की महत्वपूर्ण भूमिका बताई.

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी ऐसे आयोजनों को लगातार जारी रखने की बात कही. उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से आपस में बॉन्डिंग मजबूत होती है, साथ ही खेल में सक्रिय रहने पर आदमी शारीरिक और मानसिक तौर पर मजबूत भी होता है.

आरसीए एकेडमी पर खेले गए मैच में विधानसभा स्टाफ ने विधायकों की टीम को भले हरा दिया, लेकिन विधायकों ने अपने खेल और खेल भावना से सभी का दिल जीत लिया. सदन के भीतर दलीय व्यवस्था से बंधे रहने वाले विधायकों ने खेल के मैदान पर दलगत राजनीति से ऊपर बेहतरीन आपसी तालमेल और खेल भावना का परिचय भी दिया.