अशोक गहलोत के चुनाव लड़ने के एलान के बाद अब भी सचिन पायलट की सीट पर सस्पेंस

सचिन पायलट पहली बार राजस्थान विधानसभा चुनाव लड़ेंगे जिस कारण लोग यह जानना चाहते हैं कि आखिर सचिन पायलट किस सीट से चुनाव लड़ेंगे. 

अशोक गहलोत के चुनाव लड़ने के एलान के बाद अब भी सचिन पायलट की सीट पर सस्पेंस
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान में विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस अब भी कश्मकश में ही नजर आ रही है. एक ओर जहां अब भी कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की लिस्ट जारी नहीं की गई है. तो वहीं दूसरी ओर बुधवार को अशोक गहलोत द्वारा दिए गए एक बयान को लेकर भी लोगों के बीच असमंजस बना हुआ है. दरअसल, बुधवार को दिल्ली में हुई AICC की प्रेस कांफ्रेंस में अशोक गलहोत ने इस बात की पुष्टि की थी कि इस बार वह और सचिन पायलट दोनों चुनाव लड़ेंगे लेकिन लोगों के बीच अब सवाल यह है कि आखिर सचिन पायलट किस सीट से चुनाव लड़ेंगे.

दरअसल, सचिन पायलट पहली बार राजस्थान विधानसभा चुनाव लड़ेंगे जिस कारण लोग यह जानना चाहते हैं कि आखिर सचिन पायलट किस सीट से चुनाव लड़ेंगे. कहीं न कहीं पहला विधानसभा चुनाव होने के कारण सचिन पायलट के लिए भी ये काफी अहम रहने वाला है. वहीं कहा जा रहा है कि पायलट नसीराबाद, मसूद, बांदीकुई, नगर या दौसा में से किसी एक सीट पर चुनाव लड़ सकते हैं. जातीय समीकरणों के हिसाब से यह सीटें हैं पायलट के अनुकूल हैं.

वहीं कांग्रेस की प्रत्याशियों की लिस्ट को लेकर पिछले तीन दिनों से चल रहा बैठकों का दौर अब भी खत्म होता हुआ नजर नहीं आ रहा है. दरअसल, आज यानी गुरुवार को भी दोपहर 3.30 बजे CEC की बैठक में प्रत्याशियों की सूची को लेकर चर्चा की जाएगी. उससे पहले अशोक गहलोत, कुमारी शलजा से मिलने पहुंचे और बीजेपी में सूची जारी किए जाने के बाद शुरू हुए विरोध पर भी अशोक गहलोत ने बयान देते हुए कहा कि बीजेपी के कई नेता कांग्रेस के संपर्क में है. इसके साथ ही कांग्रेस की सूची को लेकर गहलोत ने कहा कि आलाकामना तय करेंगे प्रत्याशियों का नाम. 

वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक अशोक गहलोत 19 नवंबर को अपना नामंकन दाखिल करेंगे और वह सरदारपुर से चुनाव लड़ेंगे. बता दें, सरदारपुर को अशोक गहलोत का गढ़ माना जाता है और वह हर बार इस सीट से जीतते हैं. इस बार भी गहलोत इसी सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे लेकिन फिलहाल लोगों के मन में बड़ा सवाल सचिन पायलट की सीट को लेकर बना हुआ है.