close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में कांग्रेस के प्रभारी सचिवों पर थी टिकट वितरण की जिम्मेदारी, उनकी हुई छुट्टी

टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस नए सिरे से होमवर्क कर रही है.

राजस्थान में कांग्रेस के प्रभारी सचिवों पर थी टिकट वितरण की जिम्मेदारी, उनकी हुई छुट्टी
अब तक 160 सीटों पर दोबारा से होमवर्क किया जा चुका है.

मनोहर विश्नोई, जयपुर: राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. राजस्थान के प्रभारी सचिवों से उनकी जिम्मेदारी छीन ली गई है. जानकारी के मुताबिक, आला कमान राहुल गांधी टिकट बंटवारे को लेकर प्रभारियों के कामकाज से खुश नहीं थे जिसकी वजह से उनकी जिम्मेदारी छीन ली गई है. अब राजस्थान में टिकट बंटवारे को लेकर प्रभारी सचिवों की राय नहीं ली जाएगी. कहा जा रहा है कि प्रभारी सचिवों ने अपने पसंदीदा उम्मीदवारों को तरजीह देते हुए सिंगल नाम को आगे बढ़ाया. इसी वजह से राहुल गांधी खफा हो गए.

लिहाजा, उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया दोबारा से पूरी की जा रही है. अब नई प्रक्रिया के तहत 80 सीटों पर युवाओं और महिलाओं को मौका मिल सकता है. ऐसा कहा जा रहा है कि हर जिले से एक महिला को उम्मीदवार बनाया जाएगा. नई प्रक्रिया के तहत अब तक 160 सीटों पर दोबारा से होमवर्क किया जा चुका है. पहले टिकट बंटवारे के लिए चार प्रभारी सचिव नियुक्त किए गए थे. विवेक बंसल, काजी निजामुद्दीन, तरूण कुमार और देवेंद्र यादव को यह जिम्मेदारी दी गई थी, जिनसे अब जिम्मेदारी वापस ले ली गई है.