close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्‍थान में बहुमत से 1 कदम दूर अटकी कांग्रेस, ऐसे छू सकती है जादुई आंकड़ा

राजस्‍थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेेेस को 199 सीटों में से 99 सीटें मिली थी. बीजेपी को 73 सीटें मिली हैं.

राजस्‍थान में बहुमत से 1 कदम दूर अटकी कांग्रेस, ऐसे छू सकती है जादुई आंकड़ा
राजस्‍थान में कांग्रेस को बहुमत के लिए 1 सीट चाहिए.

नई दिल्‍ली : राजस्‍थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan elections 2018) में कांग्रेस ने बड़ी बाजी मारी है. मंगलवार को घोषित हुए परिणामों में कांग्रेस ने 199 सीटों में से 99 सीटों पर कब्‍जा किया है. लेकिन प्रदेश में सरकार बनाने का जादुई आंकड़ा 100 है. ऐसे में कांग्रेस को प्रदेश में सत्‍ता में आने के लिए एक सीट की जरूरत है. आज (12 दिसंबर) जयपुर में कांग्रेस के विधायक दलों की बैठक भी होनी है. इसमें इस मुद्दे पर भी निर्णय संभव है.

राजस्‍थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan Assembly elections 2018) में बीजेपी को 73 सीटों पर संतोष करना पड़ा है. वहीं अगर अन्‍य दलों की बात करें तो बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को 6 सीटें मिली हैं. कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्‍सवादी) को 2 सीटें मिली हैं. वहीं भारतीय ट्राइबल पार्टी को 2, राष्‍ट्रीय लोक दल को 1 और राष्‍ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को 3 सीटें मिली हैं. इसके अलावा इन चुनावों में 13 निर्दलीय प्रत्‍याशियों ने जीत दर्ज की है.

गहलोत साबित हो सकते हैं 'जादूगर'
अब अगर कांग्रेस को राजस्‍थान में सरकार बनाने के लिए एक सीट की व्‍यवस्‍था की बात करें तो माना जा रहा है कि इसमें उसे निर्दलीयों का सहयोग मिल स‍कता है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्‍योंकि यहां मुख्‍यमंत्री की रेस में आगे चल रहे वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत की निर्दलीय प्रत्‍याशियों में पैठ मानी जाती है.

राजस्‍थान में कांग्रेस के बागी नेता, जो निर्दलीय विधायक बने हैं, वो अशोक गहलोत के बेहद करीबी बताए जाते हैं. जैसे बाबूलाल नागर, महादेव सिंह खंडेला, रामकेश मीणा निर्दलीय विधायकों का भी अशोक गहलोत को ही समर्थन है. ऐसे में गहलोत के कारण कांग्रेस को इन तीन निर्दलीयों को समर्थन मिलना तय माना जा रहा है.

राजस्'€à¤¥à¤¾à¤¨ में मुख्'€à¤¯à¤®à¤‚त्री बनने की रेस में आगे हैं 'राजनीति का जादूगर', जानें अहम बातें

रालोद देगी समर्थन
वहीं राजस्‍थान में इस बार राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) ने भी एक सीट झटकी है. भरतपुर सीट से रालोद के डॉ. सुभाष गर्ग ने जीत हासिल की है. रालोद ने मंगलवार को चुनाव परिणामों के रुझान आने के दौरान ही घोषणा कर दी थी कि वह कांग्रेस को समर्थन देगी. अगर ऐसा हुआ तो कांग्रेस की खुद की 99 सीटें और 1 सीट रालोद की मिलाकर जादुई आंकड़ा 100 पहुंच जाएगा.

गहलोत ने मांगा था समर्थन
मंगलवार को राजस्‍थान चुनाव परिणामों के रुझान सामने आने के बाद कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत ने निर्दलीय प्रत्‍याशियों से समर्थन मांगा था. उन्‍होंने कहा था कि राजस्‍थान में कांग्रेस को जनता का समर्थन मिला है. सरकार बनाने में निर्दलीय कांग्रेस की मदद करें.

बागियों-बाहरियों का स्‍वागत करेंगे: पायलट
कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा 'बीजेपी जुगाड़ से सरकार बनाना चाहती है. हम सरकार बनाने के लिए बागियों और बाहरियों का स्‍वागत करेंगे. राजस्‍थान के सीएम चेहरे का फैसला कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी करेंगे. अभी पूरे नतीजों का इंतजार कर रहे हैं. राजस्‍थान में बीजेपी जोड़-तोड़ की राजनीति न करे. जयपुर में बुधवार को विधायक दल की बैठक होगी.'