close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: किसानों को अब मशीन के जरिए मिलेगी खाद, कालाबाजारी पर लगेगी लगाम

राज्य सरकार ने कालाबाजारी पर लगाम लगाने के लिए अब खाद वितरण में पोश मशीन लागू की है. अब पोश मशीन के जरिये ही किसानों को खाद का वितरण किया जाएगा.

राजस्थान: किसानों को अब मशीन के जरिए मिलेगी खाद, कालाबाजारी पर लगेगी लगाम
किसानों को अपना आधार कार्ड लेकर सरकारी समिति या खाद वितरण केंद्र तक जाना होगा.

जयपुर: प्रदेश में बारिश के बाद फसल की बुवाई होते ही खाद की डिमांड भी शुरू हो जाती है. ऐसे में राज्य सरकार ने पहली बार प्रदेश में खाद की कालाबाजारी की वजह से होने वाली खाद की किल्लत को रोकने के लिए पोस मशीन की पहल की है. डूंगरपुर जिले के कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर गौरीशंकर कटारा ने बताया की खाद की कालाबाजारी होने से फसल की बुवाई के समय किसानो को खाद नहीं मिल पाता था. जो मिलता था वह भी ऊंचे दामो पर मिलता था. 

वहीं राज्य सरकार ने कालाबाजारी पर लगाम लगाने के लिए अब खाद वितरण में पोश मशीन लागू की है. अब पोश मशीन के जरिये ही किसानों को खाद का वितरण किया जाएगा. डिप्टी डायरेक्टर कटारा ने बताया की किसानों को उसके जिले में स्थित सहकारी समिति या प्राइवेट वितरक के यहां खाद आसानी से उपलब्ध हो सकेगा. जिसके लिए किसानों को अपना आधार कार्ड लेकर सरकारी समिति या खाद वितरण केंद्र तक जाना होगा.

खबर के मुताबिक पोस मशीन पर किसान के फिंगर प्रिंट लेने के बाद उसे जरूरत के अनुसार खाद दी जाएगी. वहीं उन्होंने बताया की किसान को 10 बोरी से ज्यादा खाद की जरूरत होने पर अपने क्षेत्र के किसान पर्यवेक्षक या सहायक कृषि अधिकारी से एक पत्र लेकर आना होगा. इसके बाद ही उन्हें ज्यादा खाद उपलब्ध हो सकेगां इस व्यवस्था से खाद की कालाबाजारी रुकेगी और किसानों को पर्याप्त खाद मिल सकेगा. 

गौरतलब है की इससे पहले भी खाद सहकारी समिति या खाद वितरण केंद्र से ही मिलता था. उसके लिए किसी तरह के कोई नियम नहीं होने से खाद निजी दुकानों पर पंहुच जाता या व्यापारी स्टॉक कर लेते जिससे खाद की किल्लत पैदा हो जाती है. बाद में उसी खाद को महंगे दामों में बेचा दिया जाता था. इसी वजह से हर बार किसानों को परेशान होती थी, लेकिन अब पोस मशीन आने के बाद से किसानों को राहत मिलेगी.