close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान सरकार का ऐलान, होमगार्ड को मिलेगा सात हजार रुपए वर्दी भत्ता

गृह रक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने घोषणा की कि तीन माह में ढ़ाई हजार होमगार्ड की भर्ती की जाएगी. इसके लिए होमगार्ड सेवा नियम भी बनाए जाएंगे.

राजस्थान सरकार का ऐलान, होमगार्ड को मिलेगा सात हजार रुपए वर्दी भत्ता
होमगार्ड के एक बच्चे को छात्रवृत्ति देने की व्यवस्था है.

जयपुर: होमगार्ड के जवानों को वर्दी भत्ते के रूप में अब हर वर्ष सात हजार रुपए मिलेंगे. इसकी घोषणा सोमवार को गृह रक्षा राज्यमंत्री भजन लाल जाटव ने की. अनुदान मांग के जवाब में यह घोषणा की. अब होमगार्ड को रोजगार के लिए अधिकारियों की मनमर्जी नहीं चलेगी. इसके लिए ऑन लाइन व्यवस्था की जाएगी.
 
गृह रक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने घोषणा की कि तीन माह में ढ़ाई हजार होमगार्ड की भर्ती की जाएगी. इसके लिए होमगार्ड सेवा नियम भी बनाए जाएंगे. होमगार्ड के एक बच्चे को छात्रवृत्ति देने की व्यवस्था है, इसे बढ़ा कर अब दो बच्चों को छात्रवृत्ति मिलेगी. होमगार्ड की ड्यूटी के दौरान मौत होने की स्थिति में उसके परिजनों को सहायता उपलब्ध कराई जाएगी. 

वहीं गृह रक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने अपने घोषणा में कहा कि होमगार्ड में अटकी हुई पदोन्नति जल्दी की जाएगी. उन्होंने कहा कि निरीक्षण में गलती पाई जाने पर 438 निजी सुरक्षा एजेंसी के लाइसेंस निरस्त किए. सरकार ने छह माह में 257 नए लाइसेंस दिए हैं. 

वहीं आबकारी के विभाग पर भर्तियों का मामला भी सदन में उठाया गया. संसदीय कार्यमंत्री शान्तिधारीवाल ने सदन में मामला उठाते हुए कहा कि विभाग में 1800 रिक्त पद हैं, जिससे अवैध शराब पर कार्रवाई नहीं हो पाती है. शराबबंदी पर शान्तिधारीवाल ने कहा कि शराब बंदी आंध्रप्रदेश, हरियाणा, गुजरात में हुई वहां क्या परिणाम रहा आपके सामने है. पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया की ओर इशारा करते हुए कहा कि गुजरात के लिए तो शराब उदयपुर से ही निकलती है. 

उन्होंने कहा कि छह माह में 89 हजार शराब की बोतलें अवैध शराब की बरामद हुई, जो मोटे तौर पर जयपुर, अजमेर व उदयपुर होते हुए गुजरात जा रही थी. लाइसेंस लेकर दुकान चलाने वाले अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ जुर्माना बढ़ाया है. पहली बार पकड़े जाने पर दस हजार से बढ़ा कर बीस हजार, दूसरी बार में पच्चीस से बढ़ा कर चालीस तथा तीसरी बार में पचास हजार से बढ़ा कर 75 हजार रुपए जुर्माने की व्यवस्था की है. फिर भी पकड़ा गया तो उसका लाइसेंस निरस्त किया जाने की व्यवस्था है.