close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: धार्मिक स्थलों पर मेले में हादसे रोकने की सरकार ने की तैयारी, निर्देश जारी

एडवाइजरी के अनुसार, मेला स्थलों के निरीक्षण के लिए गठित दल मेला स्थल की बुनियादी कमियों का पता लगाएगा.

राजस्थान: धार्मिक स्थलों पर मेले में हादसे रोकने की सरकार ने की तैयारी, निर्देश जारी
गृह विभाग ने एडवाइजरी जारी की है. (videograb/youtube)

विष्णु शर्मा, जयपुर: धार्मिक स्थलों पर भगदड़ की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार ने संबंधित विभागों को टीम गठित करने का निर्देश दिया है. इस तरह के हादसों को रोकने के लिए गृह विभाग ने जिला कलेक्टरों को एडवाइजरी जारी की है.

एडवाइजरी के अनुसार, मेला स्थलों के निरीक्षण के लिए दल गठित किया जाएगा. इस दल में इंजीनियर, डॉक्टर, प्रशासक और पुलिस अधिकारी शामिल होंगे, जो मेला स्थल पर भीड़ को काबू में करने के लिए जरुरी बुनियादी कमियों का पता लगाएगा.

यह भी पढ़ें: राजस्थान के बाड़मेर में आंधी से गिरा टेंट, करंट फैलने से 14 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

नवरात्र मेले में हुआ था बड़ा हादसा
आपको बता दें कि 11 साल पहले जोधपुर के मेहरानगढ़ दुर्ग के चामुंडा माता मंदिर में नवरात्र मेले में भगदड़ के दौरान 216 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. हादसे की जांच के लिए आयोग गठित हुआ. आयोग ने रिपोर्ट भी सरकार को सौंप दी, लेकिन सरकार ने हादसे के कारणों को सार्वजनिक नहीं किया. इसके अलावा अन्य कारणों का पता नहीं चल पाया. 

लाइव टीवी देखें-:

दो दिन पहले जारी हुई एडवाइजरी
इधर इतने साल बाद जागी सरकार ने दो दिन पहले ही मेलों के दौरान उचित व्यवस्था करने के लिए एडवाजरी जारी की है. एडवाइजरी में विभिन्न मेलों के दौरान उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं.

चिह्नित होंगे तंग स्थान
गृह विभाग ने जिला कलेक्टरों से मेले के दौरान उचित व्यवस्था करने तथा वस्तुस्थिति रिपोर्ट सरकार को देने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही मेलों के दौरान व्यवस्था निरीक्षण के लिए दल गठित करने के लिए कहा है. दल में इंजीनियर, डॉक्टर, प्रशासक एवं पुलिस अधिकारी शामिल किया जाएगा. दल मेला स्थानों का निरीक्षण कर तंग स्थानों को चिह्नित करेगा.