राजस्थान: सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सरकार ने किया बाल सभाओं का आयोजन

सरकार ने जयपुर जिले के अमरसर कस्बे में मंगलवार को प्रदेश स्तरीय बाल सभा कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के कमिश्नर प्रदीप बोराड़ भी मंत्री के साथ रहे.

राजस्थान: सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सरकार ने किया बाल सभाओं का आयोजन
कार्यक्रम में अमरसर उप तहसील के तमाम सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राएं पहुंचे.

प्रदीप सोनी/चौमूं: प्रदेश के सरकारी स्कूलों में गुणवत्ता युक्त शिक्षा और नामांकन बढ़ाने की कवायद को लेकर कांग्रेस सरकार ने सामुदायिक बाल सभाओं का आयोजन सार्वजनिक जगहों पर करने का पायलट प्रोजेक्ट चोमू के भोजलावा में शुरू किया . इसके बाद फरवरी 2019 में प्रदेश की तमाम स्कूलों में लागू हुआ. इसकी प्रशंसा सामुदायिक  केंद्र सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय ने भी की. इसके लिए केंद्र सरकार ने शिक्षा विभाग को करीब 17 करोड़ का अतिरिक्त बजट दिया. 

वहीं इस योजना को क्रियान्वित करते हुए जयपुर जिले के अमरसर कस्बे में मंगलवार को प्रदेश स्तरीय बाल सभा कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के कमिश्नर प्रदीप बोराड़ भी मंत्री के साथ रहे. कार्यक्रम में अमरसर उप तहसील की 14 ग्राम पंचायतों के तमाम सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राएं पहुंचे. जहां अंताक्षरी, प्रश्नोत्तरी सहित कई कार्यक्रमों कई प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. इन प्रतियोगिताओं में छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. वहीं शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने इस कार्यक्रम की प्रशंसा की. 

साथ ही कार्यक्रम में स्थानीय लोगों ने अमरसर में सरकारी कॉलेज खोलने की मांग मंत्री के सामने रखी. इस पर मंत्री ने सरकारी कॉलेज की अनुमति के लिए स्थानीय लोगों को जयपुर बुलाकर मुख्यमंत्री से मिलने की बात कही. वहीं गांव के भामाशाह गोपीचन्द शिला नरेडी ने सरकारी कॉलेज खोलने के लिए सरकार को एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की. बाकायदा इसके लिए भामाशाह ने स्टांप पर लिख कर मंत्री डोटासरा को शपथ पत्र दिया.

हालांकि इस कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आने की बात कही गई थी प्रशासन और पुलिस ने सुरक्षा के लिहाज से तमाम तैयारियां पूरी की, लेकिन अंतिम समय में अशोक गहलोत के आने का का दौरा स्थगित हो गया. बताया गया कि अशोक गहलोत दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक में है. इसके चलते गहलोत का दौरा रद्द हुआ है. 

वहीं अमरसर के खेल ग्राउंड में आयोजित हुई सामुदायिक बाल सभा में शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, संस्कृत शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग, स्टेट मोटर गैराज मंत्री राजेंद्र यादव, जिला प्रमुख मूलचंद मीणा ,शाहपुरा विधायक आलोक बेनीवाल, पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी, सहित कांग्रेस के कार्यकर्ता और पदाधिकारी इस कार्यक्रम में मौजूद रहे. 

साथ ही, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने पूर्ववर्ती भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार भाजपा सरकार ने रंग की राजनीति की है. साइकिल का रंग बदलकर राजनीतिकरण कर दिया. आरएसएस के इशारे पर भाजपा ने स्कूलों में किताबो के सेलेब्स को बदलने का काम किया था, उसे अब सुधारा जा रहा है. वहीं प्रदेश में शुरू होने वाली वैदिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए भी वेद संकाय खोलने की बात मंत्री डोटासरा ने कही. वहीं कार्यक्रम के दौरान पुलवामा हमले में शहीद हुए रोहिताश लांबा के नाम पर स्कूल का नामकरण 6 माह बीत जाने के बाद भी नहीं हुआ. इसकी मांग को लेकर शहीद के भाई जितेंद्र ने मंत्री को ज्ञापन सौंपा. मंत्री ने जल्द ही शहीद के नाम पर स्कूल का नामकरण करने का आश्वासन दिया.