close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैयार किया विशेष कार्य योजना

अलवर के थानागाजी में गैंगरेप के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया, लेकिन आगे से इस तरह की वारदातों पर अंकुश लगे, इसके लिए कार्ययोजना तैयार की गई है.

राजस्थान सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए तैयार किया विशेष कार्य योजना
इस कार्ययोजना में समाज के सभी तबकों को शामिल किया गया है.

विष्णु शर्मा/जयपुर: राज्य सरकार महिलाओं और बच्चियों पर हो रहे अपराधों को रोकने के लिए जागरूकता अभियान चलाएगी. राज्य सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के एक विशेष कार्य योजना तैयार की है. इसके तहत अपराध और अपराधियों से सतर्क करने के लिए कई उपाय किए जाएंगे. एसीएस गृह राजीव स्वरूप की अध्यक्षता में सचिवालय में हुई बैठक में राज्य के कई महकमों के आला अफसरों ने इस कार्य योजना को अंतिम रूप देने के लिए मंथन किया. 

अलवर के थानागाजी में गैंगरेप के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया, लेकिन आगे से इस तरह की वारदातों पर अंकुश लगे, इसके लिए कार्ययोजना तैयार की गई है. महिलाओं व बच्चियों के साथ होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए तैयार इस कार्ययोजना में समाज के सभी तबकों को शामिल किया गया है. इसमें दर्ज अपराधों की जांच, कार्रवाई से लेकर अपराध रोकने के लिए जागरुकता फैलाने की जरूरत बताई गई है. इसके लिए सभी आवश्यक वर्गों और संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा. 

महिला सुरक्षा के मुद्दे पर तैयार कार्ययोजना को कई भागों में विभाजित किया गया है. बैठक में महिलाओं और बच्चियों के खिलाफ पॉस्को एकट में दर्ज केसों की समीक्षा की गई. इसके अलावा बैठक में चिकित्सा, पुलिस, महिला बाल विकास, सामाजिक न्याय अधिकारिता सहित अन्य सभी विभागों से  चर्चा की गई.

इस तरह के अपराधों पर लगाम लगाने के लिए स्टूडेंट पुलिस कैडेट प्रोग्राम चलाया जाएगा. इसके तहत नो योवर पुलिस, नो योवर स्टूडेंट प्रोग्राम शुरू किया जाएगा. महिला और बाल अपराधों पर अंकुश के लिए वन स्टोप क्राइम, महिला सुरक्षा केंद्र का सहयोग भी लिया जाएगा. जाहिर है थानागाजी गैंगरेप की घटना ने प्रदेश को हिला कर रख दिया. अब कोशिश भविष्य में ऐसी वारदातों को होने से रोकना है.