close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: गांव की महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार तैयार कर रही योजना

महिला उत्पीड़न को लेकर गृह विभाग ने भी सभी विभागों के साथ बैठक कर महिला जागरूकता पर बल दिया है. 

राजस्थान: गांव की महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार तैयार कर रही योजना
फाइल फोटो

जयपुर: महिला अत्याचार और यौन उत्पीड़न के बढ़ते मामलों को देखकर सरकार चिंतित है. सरकार का मानना है कि ऐसे मामलों को रोकने के लिए अवेयरनेस सबसे बेहतरीन कदम है. महिलाओं में जागरूकता और काउंसलिंग के लिए ग्रामीण विकास विभाग एक खास योजना बना रहा है. जिसके तहत महिलाओं की समस्याओं को सुनने और उन्हें सरकार तक पहुंचाने के लिए महिला सरकारी कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी. ग्रामीण विकास विभाग की इस योजना पर सरकार की मंजूरी मिलते ही इसे लागू किया जाएगा. 

योजना के तहत ऐसे की जाएगी काउंसलिंग
- एक पंचायत में होती 10-12 सरकारी महिला कार्मिक
- एक पंचायत में 15-16 वार्ड होते 
- एक-एक महिला कर्मचारी को एक या दो वार्ड की जिम्मेदारी दी जाएगी
- महिला कर्मचारी सालभर उस वार्ड में करेंगी काउंसलिंग
- महिलाओं की समस्याओं को पूछने के साथ ही उन्हें जागरूक करने के लिए किया जाएगा काम
- इसके साथ ही आंगनबाड़ी, आशा सहयोगिनियों का भी लिया जाएगा सहयोग

हाल ही महिला उत्पीड़न को लेकर गृह विभाग ने भी सभी विभागों के साथ बैठक कर महिला जागरूकता पर बल दिया है. गृह विभाग एसीएस राजीव स्वरूप ने कहा कि महिला अत्याचार और यौन उत्पीड़न को लेकर कानून बने हुए हैं. इसके साथ ही लोगों को जागरूक करने की भी जरूरत है. महिलाओं के कार्य स्थल, स्कूल, कॉलेज में जागरूकता के लिए सरकार काम करेगी. 

सरकार का मानना है कि महिलाओं की बढ़ी आबादी गांवों में रहती है. शहरों में अवेयरनेस ज्यादा है, लेकिन गांवों में अवेयरनेस की कमी है. इसके लिए पंचायतीराज, महिला बाल विकास विभाग, गृह विभाग सभी का सहयोग लिया जाएगा.