ऑलिव के पेड़ की पत्तियों से बनाई गई 'ग्रीन टी', अगस्त तक आएगी बाजारों में

राजस्थान सरकार इस साल अगस्त में ऑलिव चाय लॉन्च करने की योजना बना रही है. राजस्थान के कृषि मंत्री प्रभु लाल सैनी ने बताया कि यह ग्रीन चाय ऑलिव के पेड़ के पत्तों से बनाई गई है, जो दिल के मरीजों के लिए उपयोगी होगी. इससे किसानों को अतिरिक्त आय भी होगी. राजस्थान में करीब 5,000 एकड़ जमीन पर ऑलिव की खेती होती है और इससे मुख्य तौर पर तेल का उत्पादन किया जाता है. 

ऑलिव के पेड़ की पत्तियों से बनाई गई 'ग्रीन टी', अगस्त तक आएगी बाजारों में
ये ग्रीन टी दिल के मरीजों के लिए उपयोगी होगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: राजस्थान सरकार इस साल अगस्त में ऑलिव चाय लॉन्च करने की योजना बना रही है. राजस्थान के कृषि मंत्री प्रभु लाल सैनी ने बताया कि यह ग्रीन चाय ऑलिव के पेड़ के पत्तों से बनाई गई है, जो दिल के मरीजों के लिए उपयोगी होगी. इससे किसानों को अतिरिक्त आय भी होगी. राजस्थान में करीब 5,000 एकड़ जमीन पर ऑलिव की खेती होती है और इससे मुख्य तौर पर तेल का उत्पादन किया जाता है. 

उन्होंने कहा कि हमने बीकानेर के लनकरनसार में एक तेलशोधक संयंत्र स्थापित किया है जहां पत्तियों का प्रसंस्करण जारी है. वर्तमान में ऑलिव की खेती इजरायल, स्पेन, मोरक्को, ब्राजील और इटली में होती है. हमने ऑलिव की हरी चाय विकसित करने के लिए उनकी सहायता मांगी है. हम इसे अगस्त में लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं.

राजस्थान सरकार ने ऑलिव चाय की बिक्री और विपणन के लिए एक निजी कंपनी के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है. कंपनी के मुनाफे का एक हिस्सा सरकार को जाएगा. गौरतलब है कि साल 2006-07 के बीच इजरायल ने राज्य में पहली बार ऑलिव की खेती में मदद की थी.