RAS भर्ती 2018 के अभ्यर्थियों के लिए राजस्थान हाई कोर्ट का राहत भरा फैसला

आरएएस भर्ती परीक्षा 2018 में प्री परीक्षा के परिणाम में ओबीसी की कटऑफ जनरल से ज्यादा पहुंचने के बाद अदालत में मामला पहुंचा था.

RAS भर्ती 2018 के अभ्यर्थियों के लिए राजस्थान हाई कोर्ट का राहत भरा फैसला
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: आरएएस भर्ती 2018 से जुड़े अभ्यर्थियों के लिए आज राजस्थान उच्च न्यायालय ने बड़ी राहत दी. करीब 1 साल से आरएएस मुख्य परीक्षा 2018 का परिणाम पर अदालत की रोक लगी थी लेकिन आज हाईकोर्ट ने मामले पर सुनवाई में मुख्य परीक्षा परिणाम से रोक हटाने के आदेश दिए. साथ ही आरपीएससी को परिणाम जारी करने के निर्देश दिए. 

गौरतलब है कि आरएएस भर्ती परीक्षा 2018 में प्री परीक्षा के परिणाम में ओबीसी की कटऑफ जनरल से ज्यादा पहुंचने के बाद अदालत में मामला पहुंचा था. याचिकाकर्ता सुरज्ञान सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने कटऑफ के मामले में याचिकाकर्ताओं को मुख्य परीक्षा में शामिल करने के निर्देश दिए थे लेकिन साथ ही अदालत ने आरपीएससी को आदेश दिए थे कि मुख्य परीक्षा का परिणाम अदालत की अनुमति के बाद ही जारी किया जाए.

जून 2019 में आयोजित हुई थी मुख्य परीक्षा
आरएएस भर्ती 2018 की मुख्य परीक्षा जून 2019 को आयोजित हुई थी लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी परिणाम जारी नहीं हो पाया था, जिसके बाद लगातार सरकार से अदालत में मजबूत पैरवी करने की मांग की जा रही थी. इसके लिए प्रदेश के करीब 40 विधायकों द्वारा सरकार को पत्र भी लिखा गया तो वहीं समय समय पर अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया का भी सहारा लिया. 

मुख्य परीक्षा के परिणाम को मिल गई हरी झंडी
अदालत के आदेश के बाद राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव ने कहा कि पिछले लंबे समय से परिणाम जारी करने की मांग को लेकर सरकार से वार्ता चल रही थी. इसके साथ ही सरकार ने आश्वासन भी दिया था कि अदालत में मजबूत पैरवी की जाएगी और आज सरकार ने अपना वादा पूरा किया है. आरपीएससी के वकील मिर्जा फैजल बैग और एडवोकेट जनरल की ओर से अदालत में मजबूत पैरवी का असर है कि आज एक साल बाद कोर्ट से मुख्य परीक्षा के परिणाम को हरी झंडी मिल गई है.