Coronavirus: व्हाट्सअप कॉलिंग के जरिए राजस्थान हाईकोर्ट के जज ने की प्रकरण की सुनवाई

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर याचिकाकर्ता के वकील ने अपनी दलील व्हाट्सअप कॉलिंग के जरिए रखी. 

Coronavirus: व्हाट्सअप कॉलिंग के जरिए राजस्थान हाईकोर्ट के जज ने की प्रकरण की सुनवाई
प्रतीकात्मक तस्वीर.

महेश पारीक, जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने मेडिकल पीजी में ऑल इंडिया कोटे की सीट पर तकनीकी कारणों से रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाने को लेकर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से जवाब तलब किया है. न्यायाधीश एसपी शर्मा ने यह आदेश डॉ. आयुषी गुप्ता की ओर से दायर याचिका पर दिए.

याचिका में अधिवक्ता सारांश सैनी ने अदालत को बताया कि याचिकाकर्ता ने मेडिकल पीजी पाठ्यक्रम में ऑल इंडिया कोटे के तहत आवेदन किया था, लेकिन इंटरनेट की बाधा के चलते रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाया. फिलहाल प्रवेश प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है. ऐसे में याचिकाकर्ता को काउंसलिंग में शामिल किया जाए, जिस पर सुनवाई करते हुए एकल पीठ ने एमसीआई को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. 

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर याचिकाकर्ता के वकील ने अपनी दलील व्हाट्सअप कॉलिंग के जरिए रखी. वहीं दूसरी ओर से न्यायाधीश ने भी व्हाट्सअप कॉलिंग के जरिए प्रकरण की सुनवाई की और वकील से सवाल-जवाब किए.

साथ ही बता दें कि राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan Highcourt) ने राज्य सरकार को निर्देश दिए हैं कि बाजार में खरीदारी के लिए आने वाले व्यक्ति को बिना मास्क इसकी अनुमति नहीं दी जाए. इसके साथ ही बैठक या समारोह के नाम पर निजी या सार्वजनिक भीड़ एकत्र नहीं होने दी जाए.

यदि बेहद ही जरूरी हो तो संबंधित अधिकारी इसकी पूर्व अनुमति दे. इस दौरान सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क नहीं हो और लोगों के बीच कम से कम दो मीटर का फासला रहे.