close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान का उद्योग विभाग आयोजित कर रहा है 'उत्सव', देगा कारोबार के अवसर

उद्योग विभाग पांच दिवसीय लहरिया तीज उत्सव के दौरान कारोबारी रंगों की पहचान करवाने का प्रयास करेगा.

राजस्थान का उद्योग विभाग आयोजित कर रहा है 'उत्सव', देगा कारोबार के अवसर
उत्सव का आयोजन ओढ़नी-लहरिया थीम पर होगा.

जयपुर: राजस्थान में उद्योग स्थापना से सरोकर रखने वाला महकमा अब उनके उत्पादों के प्रमोशन की पहल भी कर रहा है. इसके लिए उत्सवों के रंगों में नवाचार ढाले जा रहे हैं. उद्योग विभाग लहरिया तीज उत्सव आयोजित कर रहा हैं. पांच दिवसीय उत्सव का मकसद कारोबारी रंगों की पहचान करवाना है. 

बैठक में संगठनों की भागीदारी
प्रदेश का उद्योग महकमा तीज लहरिया उत्सव का आयोजन ओढ़नी-लहरिया थीम पर करेगा. उद्योग आयुक्त डॉ. कृष्णा कांत पाठक ने इसके आयोजन को उद्योग विभाग में उच्चस्तरीय बैठक ली. बैठक में विभागीय अधिकारियों के साथ प्रदेश की कारोबारी संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद रहे. सभी से लहरिया तीज उत्सव को बेहतर बनाने के सुझाव लिए गए. 

इस संबंध में उद्योग आयुक्त केके पाठक ने बताया कि राज्य के परंपरागत शिल्प को संवारने के लिए उद्योग विभाग ने पहल की है. महिलाओं के परंपरागत उत्सव सिंजारा को कुछ अलग और खास बनाने के लिए तीज लहरिया उत्सव का आयोजन करने का निर्णय लिया गया है. तीज लहरिया उत्सव का आयोजन 26 जुलाई से 30 जुलाई तक किया जाएगा. जिसमें प्रदेश की एमएसएमई, हथकरघा और हस्तशिल्प ईकाईयां इससे प्रमोट होंगी. इसके लिए बुनकर संघ, हथकरघा विकास निगम, रुडा, राजसिको को जोड़ा गया हैँ.  

लाइव टीवी देखें-:

ओढ़नी-लहरिया थीम
उद्योग विभाग तीज लहरिया उत्सव का आयोजन ओढ़नी-लहरिया थीम पर करेगा. तीज लहरिया उत्सव को आकर्षक व बहुआयामी बनाने के लिए प्रदेष के विभिन्न अंचलों के लहरिया के विविध रुपों को प्रदर्षित और बिक्री की व्यवस्था की जाएगी.

उन्होंने बताया कि इसके लिए बुनकर संघ, हथकरघा विकास निगम, रुडा, राजसिको आदि को जोड़ने के साथ ही बुटिक संचालको व इच्छुक सहभागियों की भागीदारी के लिए उद्यम प्रोत्साहन संस्थान उद्योग विभाग में सीधे या ऑनलाईन आवेदन किए जा सकते हैं.

तीज लहरिया उत्सव में लहरिया के के साथ ही मोठड़ी, बांधनी आदि साडि़यां, लहरिया शूट, दुपट्टे सहित अन्य परिधान उपलब्ध होंगे. पुरुषों के लहरियां साफे सहित अन्य परिधान भी उपलब्ध होंगे. इसके साथ ही इस उत्सव में विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएगी. पांच दिवसीय लहरिया उत्सव में परंपरागत के साथ ही आधुनिकता का भी समावेश होगा. उचित मूल्य, गुणवत्ता और विशिष्ठता पर खास जोर दिया जाएगा. 

बनेगी स्थायी कार्ययोजना
उद्योग विभाग के इस नवाचार से छोटे व्यापारी उत्साहित हैँ, उत्सव के बहाने कारोबारियां खुशियां इससे मिलने की उम्मीद हैँ जगी हैं. विभाग आने वाले दिनों में उत्पादों को प्रमोट करने के लिए ठोस कार्ययोजना भी लाने की तैयारी में हैँ. अगर कोई ठोस कार्ययोजना विभाग बनाता हैं तो दम तोड़ रही कई हस्तशिल्प कलाओं को बाजार का साथ मिल सकेगा.