close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: जेडीए ने चिन्हित किए रूफटॉप रेस्टोरेंट, सीज करने की कार्रवाई शुरू

जेडीए एसपी प्रीति जैन की अध्यक्षता में रेस्टोरेंटस संचालकों का पक्ष सुना गया. इस दौरान नियम कायदों को लेकर रेस्टोरेंट संचालकों ने कई तरह की समस्या बताई और सुरक्षा इंतजामों के नियमों को कई स्थानों पर अड़चन बताया.

राजस्थान: जेडीए ने चिन्हित किए रूफटॉप रेस्टोरेंट, सीज करने की कार्रवाई शुरू
बैठक में जेडीए ने साफ तौर पर रेस्टोरेंट संचालकों को सुरक्षा इंतजामों को करने के लिए बाध्य किया है.

रोशन शर्मा, जयपुर: नेशनल बिल्डिंग कोड और जेडीए नियमों को ताक पर रख कर बिना सुरक्षा इंतजामों के चल रहे रुफटॉप रेस्टोरेंट संचालकों में जेडीए के नोटिस के बाद हडकंप है. नियम विरुद्ध चल रहे रुफटॉप रेस्टोरेंट को लेकर जेडीए ने शहर में किए अपने सर्वे में 82 रुफटॉप रेस्टोरेंट नियम विरुद्ध पाए गए जिनमें से 67 को नोटिस दिए गए. इन 67 रुफटॉप रेस्टोरेंट्स के मालिकों ने गुरुवार को जेडीए प्रवर्तन एसपी प्रीति जैन के सामने अपनी दलिल रखी. सुनवाई में नियमों को समझने और नियमों में शिथिलता देने की मांग को लेकर 325 से ज्यादा रेस्टोरेंट और होटल के संचालक पहुंचे. 

जेडीए एसपी प्रीति जैन की अध्यक्षता में रेस्टोरेंटस संचालकों का पक्ष सुना गया. इस दौरान नियम कायदों को लेकर रेस्टोरेंट संचालकों ने कई तरह की समस्या बताई और सुरक्षा इंतजामों के नियमों को कई स्थानों पर अड़चन बताया. मगर जेडीए और निगम के अफसरों ने कोई भी बहाना रेस्टोरेंट संचालकों का नहीं माना और जल्द से जल्द सुरक्षा इंतजाम करने के संचालकों को निर्देश दिए. साथ ही बैठक में कई बार नियम कायदों और व्यवस्थाओं के मुद्दों पर रेस्टोरेंट और होटल संचालकों ने प्रशासन को घेरने की कोशिश की मगर उनकी एक ना चली और अफसरों ने जनता के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम करने की हिदायत दी.

बैठक में जेडीए ने साफ तौर पर रेस्टोरेंट संचालकों को सुरक्षा इंतजामों को करने के लिए बाध्य किया और जेडीए द्वारा तय समय पर इंतजाम नहीं करने पर जेडीए धारा 34 का नोटिस देकर सीज की कार्रवाई करेगा. जेडीए एसपी प्रीति जैन और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीर सैनी ने रेस्टोरेंट संचालकों को सुरक्षा और नियमों के पालन का दो घंटे तक पाठ पढाया. साथ ही जेडीए अफसरों ने रुफटॉप रेस्टोरेंट्स में 4 तरह के इंतजाम करने के लिए पुरी तरह बाध्य किया. बैठक के दौरान रेस्टोरेंट संचालकों ने भी कोचिंग संस्थानों के संचालकों की भांति जेडीए पर भय का माहौल बनाने की बात कही. जिस पर अफसरों ने इस बात पर पुरी तरह खारिज किया और कहा कि डराना हमारा मकसद होता तो नोटिस नही देते और सीधे ही सभी रेस्टोरेंट्स को सीज कर दिया होता. साथ ही जेडीए ने सभी संचालकों को साफ किया और दो टूक शब्दो में कहा कि अगर सुरक्षा इंतजाम तय समय में नही किए गये को जेडीए सीजिंग की कार्रवाई करेगा.

बैठक के बाद रेस्टोरेंट्स संचालकों के पदाधिकारियों ने जेडीए के द्वारा दी गई सीख पर अपनी सहमति दी. वहीं होटल एसोसियेशन के जेडीए की इस कार्रवाई को बजट क्लास होटल व्यवसाय और पर्यटन व्यवसाय के लिहाज से ठीक नहीं बताया. साथ ही रुफटॉप रेस्टोरेंट्स संचालकों ने समय और मौके की स्थिति के हिसाब से नए प्रावधान बनाने की भी मांग जेडीए के समक्ष रखी.